निर्भया केस- दोषियों के खिलाफ नया डेथ वारंट जारी, जल्द खत्म होगी इंसाफ की लड़ाई

नया डेथ वारंट new death warrant_socialaha.com

नई दिल्ली- निर्भया के दोषी की फांसी की तारीख को बदल दिया है। आज दिल्ली की अदालत चारों दोषियों के खिलाफ नया डेथ वारंट जारी किया। यह जो नया डेथ वारंट जारी हुआ है उनके अनुसार अब फांसी 22 जनवरी को नहीं बल्कि 1 फरवरी को सुबह छह बजे होगी। आपको बता दें कि शुक्रवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने दोषी मुकेश सिंह की दया याचिका खारिज कर दी। लेकिन वहीं तारीक आगे बढ़ने से निर्भया की मां निराश है। उनका कहना है कि ‘जो मुजरिम चाहते है वही हो रहा है, तारीक पे तारीक, तारीक पे तारीक… हमारा सिस्टम ऐसा है जहां अपराधी की सुनी जाती है।’

 

निर्भया के दोषियों ने फांसी से बचने की लाख कोशिश की लेकिन हर कोशिश नाकाम रही निर्भया के दोषी मुकेश की दया याचिका को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शुक्रवार को खारिज कर दी। खबरों के मुताबिक मुताबिक राष्ट्रपति ने दोषी मुकेश की फांसी की सजा को बरकरार रखने की सिफारिश की थी। गृह मंत्रालय ने यह याचिका राष्ट्रपति को भेजी थी।

दया याचिका खारिज होने के बाद निर्भया के पिता ने कहा था कि यह बहुत अच्छी बात है। जब हमने ‘फांसी देने में देरी हो सकती है वाली खबर सुनी तो हमारी सारी उम्मीदें धूमिल पड़ गई थीं।’ मुकेश सिंह ने दो दिन पहले ही दया याचिका दायर की थी।

यह भी पढ़ें- निर्भया केस- इंसाफ की लड़ाई अभी भी जारी, नहीं होगी 22 जनवरी को फांसी

बता दें कि दिल्ली की एक अदालत ने सात जनवरी को डेथ वारंट जारी करते हुए कहा था कि चारों दोषियों – मुकेश सिंह(32), विनय शर्मा (26), अक्षय कुमार सिंह (31) और पवन गुप्ता (25) को 22 जनवरी की सुबह सात बजे तिहाड़ जेल में फांसी दी जाएगी।

हालांकि दिल्ली सरकार ने हाईकोर्ट में कहा था कि दोषियों को फांसी नहीं दी जा सकती है क्योंकि दोषी मुकेश ने दया याचिका दायर कर रखी है। गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने शुक्रवार सुबह कहा था कि गृह मंत्रालय ने मुकेश सिंह की दया याचिका राष्ट्रपति के पास भेज दी है।

यह भी पढ़ें- निर्भया केस- फांसी से बचने के लिए रास्ते हुए बंद, दोषियों के चेहरे पर दिखा डर

मंत्रालय ने इसे खारिज करने की दिल्ली के उप राज्यपाल की सिफारिश को दोहराया है। दिल्ली के उप राज्यपाल अनिल बैजल के कार्यालय ने मुकेश सिंह की दया याचिका गुरूवार को गृह मंत्रालय के पास भेजी थी। इससे पहले दिल्ली सरकार ने दया याचिका को खारिज करने की सिफारिश की थी। राष्ट्रीयपति रामनाथ कोविंद के पास भेजी गई दया याचिका को उन्होंने खरिज कर दिया और एक बार फिर इंसाफ की उम्मीद जगा दी। नया डेथ वारंट जारी होने के साथ एक बार फिर निर्भया की लड़ाई खत्म होती दिखाई दे रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *