उन्नाव पीड़िता के इंसाफ के लिए धरने पर बैठे अखिलेश यादव, योगी सरकार पर उठे सवाल

नई दिल्ली-  उन्नाव रेप पीड़िता ने शुक्रवार शाम सफदरजंग हॉस्पिटल में आखिरी सांस ली। उन्नाव रेप पीड़िता की मौत के बाद यूपी में राजनीति तेज हो गई है पीड़िता की मौत के बाद समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव विधानसभा के बाहर धरने पर बैठे। अखिलेश यादव ने योगी सरकार को पीड़िता की मौत का जिम्मेदार बताया। उनका माना हैं कि योगी के राज में महिलाओं के खिलाफ अपराध बढ़ रहा है। साथ ही उन्होंने कहा कि बीजेपी सरकार ने महिलाओं की सुरक्षा के लिए कोई पुख्ता इंतजाम नहीं किए है। एक ओर अखिलेश यादव विधानसभा के बाहर धरने पर बैठे हैं। दूसरी ओर लखनऊ दौरे पर आईं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी उन्नाव रवाना हो गई हैं। प्रियंका उन्नाव में पीड़िता के परिजनों से मुलाकात करेंगी।

आखिलेश यादव ने उन्नाव की घटना पर दुख जताया। उन्होंने कहा कि इस घटना की जितनी भी निंदा की जाए कम है। यह एक काला दिन है। वह मरना नहीं चाहती थी, लेकिन वह जिंदा नहीं बच पाई। इस तरह की घटना इस बीजेपी सरकार में पहली बार नहीं हुई है। इससे पहले भी उन्नाव की बेटी ने मुख्यमंत्री आवास के बाहर आत्मदाह करने की कोशिश की थी, तब जाकर उसकी एफआईआर दर्ज हुई। बाराबंकी की बेटी ने भी इसी मुख्यमंत्री आवास के बाहर आग लगाई थी। वह बच नहीं पाई। एक ने पूरा परिवार खो दिया, जिस बेटी की जान आज गई उसकी दोषी बीजेपी सरकार है।’
यह भी पढ़ें- ‘हमें बचा लीजिए’ एक और देश की निर्भया हार गई जिंदगी की जंग

साथ ही उन्होंने कहा कि- ‘जब तक उत्तर प्रदेश के सीएम, गृह सचिव और डीजीपी इस्तीफा नहीं देंगे, न्याय नहीं होगा। उन्नाव रेप केस को लेकर कल सभी जिलों में शोक सभा आयोजित की जाएगी।’ अखिलेश ने आगे कहा, ‘जिन पर आरोप हैं वो बीजेपी से जुड़े लोग हैं इसलिए न्याय नहीं मिला। आज के युग में इस तरह की घटनाएं होगी क्या, किसी को जिंदा जला दिया जाएगा।’ अखिलेश ने आगे कहा, ‘इसी विधानसभा में मुख्यमंत्री ने कहा था कि अपराधियों को ठोक दिया जाएगा। यह भाषा थी लेकिन एक बेटी की जान नहीं बचा सके।

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव के साथ उन्नाव पीड़िता के समर्थन में सपा की महिला भी शक्ति जुटी। अखिलेश यादव के साथ बाकी नेता भी विधानसभा के गेट नंबर 2 के बाहर धरना दे रहे हैं। बता दें कि उन्नाव में जिंदा जलाई गई रेप पीड़िता की शुक्रवार रात दिल्ली के सफदरगंज अस्पताल में कार्डिऐक अरेस्ट से मौत हो गई। उधर, बीएसपी प्रमुख मायावती ने भी पीड़िता की मौत पर दुख जाहिर करते हुए तुरंत न्याय की मांग की है।

यह भी पढ़ें- हैदराबाद एनकाउंटर के बाद सवालों के घेरे में आई पुलिस

मायावती ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया, ‘जिस उन्नाव रेप पीड़िता को जलाकर मारने की कोशिश की गई उसकी कल रात दिल्ली में हुई दर्दनाक मौत अति-कष्टदायक। इस दुःख की घड़ी में बीएसपी पीड़ित परिवार के साथ है। यूपी सरकार पीड़ित परिवार को समुचित न्याय दिलाने हेतु शीघ्र ही विशेष पहल करे, यही इंसाफ का तकाजा और जनता की मांग है।

उन्होंने आगे लिखा, ‘साथ ही, इस किस्म की दर्दनाक घटनाओं को यूपी सहित पूरे देशभर में रोकने हेतु राज्य सरकारों को चाहिए कि वे लोगों में कानून का खौफ पैदा करे और केंद्र भी ऐसी घटनाओं को मद्देनजर रखते हुए दोषियों को निर्धारित समय के भीतर ही फांसी की सख्त सजा दिलाने का कानून जरूर बनाए।’

2 thoughts on “उन्नाव पीड़िता के इंसाफ के लिए धरने पर बैठे अखिलेश यादव, योगी सरकार पर उठे सवाल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *