केंद्रीय श्रम संगठनों के आह्वान पर बैंककर्मी आज हड़ताल पर

हड़ताल Bank workers today on strike at the call of central labor organizations_socialaha.com

स्लग-  सरकार की नीतियों के खिलाफ हुए प्रदर्शन के चलते श्रम संगठनों की हड़ताल में बैंककर्मियों के 5 संगठन भी शामिल हुए।हरदोई में आल इंडिया बैंक इम्प्लाइज एसोसिएशन के बैनर तले हुई इस हड़ताल के चलते सभी बैंकों में ताले लटकते दिखाई दिए ।

आज सुबह करीब दस बजे बैंककर्मी सिंडीकेट बैंक की शाखा निकट जमा हुए और नारेबाजी करते हुए केंद्र सरकार को जमकर कोसा। हड़ताल के चलते आज करीब सौ करोड़ का लेनदेन प्रभावित होगा। मुख्‍य तौर पर ये हड़ताल सरकार के 10 बैंकों के विलय के विरोध के लिए बुलाई गई है। दरअसल, बीते दिनों वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 10 बैंकों के विलय का ऐलान किया था।

इसके बाद 4 नए बैंक अस्तित्‍व में आ जाएंगे। वहीं आंध्रा बैंक, इलाहाबाद बैंक, सिंडिकेट बैंक, कॉर्पोरेशन बैंक, यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया और ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स का अस्तित्‍व नहीं रहेगा. बैंक यूनियन का कहना है कि इस विलय से बैंकिंग सेक्‍टर में लोगों की नौकरी जाएगी. इसके अलावा बैंक यूनियन जमा राशि पर दरों में गिरावट का भी विरोध कर रहे है।

यह भी पढ़ें- 10 ट्रेड यूनियनों ने भारत बंद का आह्वान, विरोध में कर्मचारी

इसके अलावा बता दें कि केंद्रीय ट्रेड यूनियनों ने बुधवार को भारत बंद का आह्वान किया है। सरकार की नीतियों के खिलाफ उन्होंने इसका ऐलान किया। इसका असर आम लोगों पर पड़ रहा है। इसकी वजह से बैंकिंग, परिवहन समेत दूसरी सेवाओं पर भी खासा असर दिख रहा है। माना जा रहा है कि तकरीबन 25 करोड़ लोग इस हड़ताल का हिस्सा हैं।

इस हड़ताल के चलते कई राज्यों से हिंसा की खबरे भी सामने आ रही है। लोग अपना विरोध प्रदर्शन कर रहें है। साथ ही सरकार पर सवाल उठ रहे है। कई राज्यों में स्कूल, कॉलेज, मार्केट बंद है। ऐसे मे सरकार इस मामले में क्या कदम उठाती यह देखना होगा। कब तक लोग इन मामलो को लेकर सड़को पर उतरेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *