Standard layout


Perfect for most of the websites you could need, with lots of categories and examples laid out.


VIEW NOW


Sport Portal


If you’re a sport editor, or just a sport person then this example could fit you perfectly.


VIEW NOW


News Portal


Perfect for most of the websites you could need, with lots of categories and examples laid out.


VIEW NOW


Magazine Portal


If you prefer flashy colors, a bit magazine-like layout, then this example is perfect for you.


VIEW NOW


dcdedf.png

SocialahaNovember 18, 20194min270

बिग बॉस 13’ के दो बड़े ‘दुश्मन’ देवोलीना भट्टाचार्जी और सिद्धार्थ शुक्ला को आप लोग जानते ही हैं । दोनों के बीच अभी दोस्ती की शुरुआत हुई ही थी कि अचानक एक टास्क ने उन्हें फिर से ‘दुश्मन’ बना देगा । बीते कुछ दिनों से देवोलीना और सिद्धार्थ एक दूसरे के साथ मस्ती कर रहे थे और खूब मजे ले रहे थे । जो देखने में काफी मस्ती भरा लग रहा था । ‘दुश्मन’ से अभी हॉल में दोस्त बने सिद्धार्थ शुक्ला और देवोलीना की फ्लर्टिंग घर वालों को पंसद आ रही थी , और दर्शकों भी काफी मजे से देख रहे थे , लेकिन अपकमिंग एपिसोड में देवोलीना,को सिद्धार्थ शुक्ला ने बाथरूम में बंद कर दिया था और वह बाथरूम से बाहर आने के बाद सिदार्थ शुक्ला समेत सभी घर वालों पर एक बार फिर भड़कती नजर आएंगी ।

कलर्स ने अपने इंस्टाग्राम पर आज का एपिसोड का एक वीडियो शेयर किया है जिसमें अगले टास्क की एक झलक साफ साफ नजर आ रही है । इस टास्क में दिखाया गया है कि चोरों की 2 टीम बनाई गई है । शेफाली जरीवाला और देवोलीना भट्टाचार्जी दोनों लोग चोर बने हैं । वीडियो में दिख रहा है टास्क में दिखाया गया है कि सारे घर वाले एक दूसरे का सामान चुरा के छुपा रहे हैं । और हर तरफ अफरा तफरी मची हुई है , और तभी मस्ती के मूड में सिद्धार्थ शुक्ला कहते हैं कि दोनों चोर को पकड़कर बाथरूम में बंद कर दो ।


इसके बाद घर वाले शेफाली और देवोलीना को बाथरूम में बंद कर देते हैं, लेकिन तभी सिद्धार्थ ने देवोलीना के बाथरूम के दरवाजे बंद कर देते हैं । इसके बाद देवोलीना लगातार दरवाजा पीटती और आवाज देती हैं कि कोई दरवाज़ा खोल दो और दरवाजा खोलने के बाद वह बाहर आती हैं । इसके बाद देवोलीना बाहर आने के बाद वह सारे घर वालों पर जोरदार भड़कती हैं। हालांकि देवोलीना का दरवाज़ा कौन खोलेगा ये वीडियो में नहीं दिखाया गया है।


fwe.jpg

Sonu SharmaNovember 18, 20191min350

नई दिल्ली: आदित्य रॉय कपूर और दिशा पटानी की फिल्म मलंग का फर्स्ट लुक रिलीज हो चुका है। रिलीज हुए फिल्म के फर्स्ट लुक में आदित्य रॉय कपूर बेहद हॉट एंड सेक्सी दिख रहे हैं तो वहींदिशा पाटनी भी अपनी अदाओं से किसी को भी घायल कर देने के लिए बिल्कुल तैयार दिख रही है। मोहित सूरी के निर्देशन में बन रही इस फिल्म को मेकर्स साल 2020 के वैलेंटाइन डे यानी कि 14 फरवरी को रिलीज करने वाले है। कुछ दिनों ही पहले इस फिल्म की शूटिंग पूरी हुई थी। अब फिल्म के इस धमाकेदार फर्स्ट लुक को देख आपको इसके ट्रेलर का इंतजार बढ़ जाने वाला है।

यह भी पढ़ें- आमिर खान की फिल्म ‘लाल सिंह चड्ढा’ का पहला लुक आया सामने

मस्ती में चूर आदित्यदिशा

बीते दिन बॉलीवुड स्टार आदित्य रॉय कपू का जन्मदिन था। उनके बर्थडे की शाम को और भी रंगीन बनाने के लिए मेकर्स ने इस फिल्म से उनका फर्स्ट लुक रिलीज कर दिया है। जारी किए गए इस फर्स्ट लुक में आदित्य रॉय कपूर और दिशा पाटनी गोवा की मस्ती में चूर दिख रहे है।

इस फिल्म को भूषण कुमार प्रोड्यूस कर रहे हैं जबकि उनके साथकृष्ण कुमारलव रंजनअंकुर गर्ग और जय शेवाकृमानी इसके को-प्रोड्यूसर है। इस फिल्म में पहली बार दिशा पाटनी और आदित्य रॉय कपूर साथ काम कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें-फिल्म ‘मरजावां’ रिव्यू: कलाकारों की अदाकारी की तारीफ करना होगी बेईमानी !

साल 2020 एक्ट्रेस दिशा पाटनी के लिए खास होने वाला है। इस साल की शुरुआत जहां उनकी आदित्य रॉय कपूर स्टारर फिल्म मलंग रिलीज होनी है। तो वहींवो सलमान खान के साथ फिल्म राधे-यॉर मोस्ट वॉन्टेड भाई में दिखने वाली है। इस फिल्म में वो एक जबरदस्त डांस नंबर करने वाली है। जिसकी तैयारी इन दिनों जोरों पर है। इस फिल्म को प्रभुदेवा निर्देशित करने वाले है।

श्वेता शर्मा 


dff.jpg

Sonu SharmaNovember 18, 20191min290

नई दिल्ली: साल में एक बार सुपरहिट फिल्म लाने वाले आमिर खान की आने वाली फिल्म ‘लाल सिंह चड्ढा’ का पहला लुक सामने आ चुका हैं। ‘लाल सिंह चड्ढा’ के पहले लुक में आमिर सरदार जी के लुक में नज़र आ रहे है और वो बेहद क्यूट लग रहे है। हर बार आमिर अपनी फिल्म में अलग अलग लुक के साथ सामने आते हैं। अपने लुक से वो हर बार लोगों का दिल जीते हैं। साथ ही आमिर खान को अपनी फिल्मों में अलग-अलग लुक्स के साथ एक्सपेरिमेंट करने के लिए जाना जाता है इस बार भी आमिर सरदार जी के लुक में बहुत अच्छे लग रहे हैं.

फिल्म ‘लाल सिंह चड्ढा’ का पहला लुक आमिर खान ने खुद अपने ट्विटर अकाउंट से शेयर किया। आमिर खान ने लिखा, ‘सत श्री अकाल जी, मैं लाल… लाल सिंह चड्ढा.’ फैंस को आमिर खान का ये लुक बहुत पसंद आ रहा है और वे कमेंट कर उन्हें बधाई भी दे रहे हैं।
यह भी पढ़े-फिल्मों के जादूगर और सिनेमा जगत का ‘पितामह’ कहा जाता है उन्हें

बता दें कि फिल्म ‘लाल सिंह चड्ढा’ में आमिर खान के साथ करीना कपूर नजर आएंगी। आमिर खान और करीना कपूर लगभग 9साल बाद एक बार फिर बड़े पर्दे पर नजर आने वाले हैं। इस पहले दर्शको ने इन दोनों की जोड़ी को 3 इडियट्स और तलाश जैसी फिल्मों में साथ देखा है। हाल ही में चंडीगढ़ में फिल्म लाल सिंह चड्ढा के फर्स्ट शेड्यूल की शूटिंग शुरू की गई है। इसी दौरान सेट से दोनों के लुक की फोटोज भी सामने आई थीं।
यह भी पढ़ें-रानू मंडल अपने मेकअप के लिए हुई ट्रोल, लोगों ने उड़ाया जमकर मज़ाक

साथ ही बता दें कि फिल्म ‘लाल सिंह चड्ढा’, 1994 में आई रॉबर्ट जेमेकिस की ऑस्कर विनिंग फिल्म ‘फॉरेस्ट गम्प’ का रीमेक है, जिसमें टॉम हैंक्स और रॉबिन राइट लीड रोल में थे। लाल सिंह चड्ढा, क्रिसमस 2020 में सिनेमाघरों में रिलीज होगी। अद्वैत चंदन द्वारा निर्देशित और अतुल कुलकर्णी द्वारा लिखित इस फिल्म को वायाकॉम18 मोशन पिक्चर्स के साथ मिलकर आमिर प्रोड्यूस कर रहे हैं।


IMG_20191118_104215.jpg

Sonu SharmaNovember 18, 20192min400

वी शांताराम के जन्मदिन पर विशेष

नई दिल्ली: वह केवल डायरेक्टर ही नहीं बल्कि, एक्टर, एडिटर और फिल्म प्रोड्यूसर जैसे हर काम में माहिर थे | कई प्रतिभाओं के जानकार थे वह | उन्होंने अपने जीवन के 60 साल फिल्मों के लिए समर्पित किए | उन्होंने फिल्म निर्माण की नई शैली को विकसित किया | फिल्म बनाने के जादूगर और उन्हें सिनेमा जगत का ‘पितामह’ कहा जाता है | आज हम आपको बताने जा रहे हैं वी शांताराम के बारे में | आज उनका 118वां जन्मदिन है | फिल्मों की हर विधा में माहिर वी शांताराम का जन्म 18 नवंबर 1901 में महाराष्ट्र के कोल्हापुर में मराठी परिवार में हुआ था | आज हम आपको इन्हीं महान एक्टर और डायरेक्टर के फिल्मी सफर के बारे में बताएंगे |

वी शांताराम का बचपन से ही रुझान फिल्मों की ओर था

वी शांताराम का मूल नाम राजाराम वानकुदरे शांताराम था | आर्थिक स्थिति ठीक नहीं होने के कारण उन्हें अपनी पढ़ाई बीच में ही छोड़नी पड़ी थी | उनका रुझान बचपन से ही फिल्मों की ओर था और वे फिल्मकार बनना चाहते थे | वर्ष 1920 के शुरुआती दौर में वी शांताराम बाबू राव पेंटर की महाराष्ट्र फिल्म कंपनी से जुड़ गए और उनसे फिल्म निर्माण की बारीकियां सीखीं | उसके बाद शांताराम ने अपने करियर की शुरुआत वर्ष 1921 में आई मूक फिल्म ‘सुरेख हरण’ से की थी | इस फिल्म में उन्हें बतौर अभिनेता काम करने का मौका मिला था | वी शांताराम ने अभिनेता के तौर पर लगभग 25 फिल्मों में काम किया है. इनमें ‘सवकारी पाश’, ‘परछाईं’, ‘दो आंखें बारह हाथ’, ‘स्त्री’ और ‘सिंहगड़’ जैसी फिल्में शामिल हैं |
यह भी पढ़ें- जन्मदिन विशेष- खिलाड़ी से भी ज्यादा कोच के रूप में मशहूर होकर बन गए ‘गुरु गोपी’

1927 में फिल्म निर्देशन की यात्रा शुरू की

शांताराम ने 1927 में अपनी पहली फिल्म डायरेक्ट की थी | इस फिल्म का नाम ‘नेताजी पालकर’ है | वह कई प्रतिभाओं में माहिर थे और उन्होंने फिल्म निर्माण की नई शैली को विकसित किया | उन्हें सामाजिक और पारिवारिक पृष्ठभूमि पर अर्थपूर्ण फिल्में बनाने के लिए जाना जाता है |

birthday-special-v-shantaram
birthday-special-v-shantaram

1929 में प्रभात कंपनी की स्थापना की

वर्ष 1929 में शांताराम ने ‘प्रभात कंपनी फिल्मस’ की स्थापना की | प्रभात फिल्म्स का नाम उन्होंने अपने बेटे प्रभात के नाम पर रखा था | इस बैनर पर वी शांताराम ने करीब आधा दर्जन फिल्में बनाईं | जिनमें ‘अयोध्या के राजा’ प्रमुख रही | ‘अमृत मंथन’ को भी दर्शकों ने काफी सराहा | शांताराम को इन्हीं फिल्मों में पहली बार ‘क्लोज-अप’ का इस्तेमाल किया था | उन्होंने 1933 में पहली रंगीन हिंदी फिल्म बनाई थी | वहीं हिंदी फिल्मों में मूवींग शॉट्स और ट्रोली का भी सबसे पहले उन्होंने ही इस्तेमाल किया था | साथ ही एनिमेशन का प्रयोग भी उन्होंने ही शुरू किया था |

छह दशक तक फिल्माें पर राज किया

शांताराम ने अपने छह दशक लंबे फिल्मी करियर में लगभग 92 फिल्में प्रोड्यूस की और लगभग 55 फिल्मों में निर्देशक के तौर पर काम किया | उनकी ‘डॉ. कोटनिस की अमर कहानी’ (1946), ‘अमर भोपाली’ (1951), ‘झनक झनक पायल बाजे’ (1955), ‘दो आंखें बारह हाथ’ (1957), ‘नवरंग’ (1959) और ‘पिंजरा’ (1972) ऐतिहासिक फिल्में रहीं | जिन्हें सिनेमा दर्शक आज भी नहीं भूले हैं |
यह भी पढ़ें- जन्मदिन विशेष: शोले का ‘गब्बर सिंह’ हिंदी सिनेमा के लिए आज भी लकीर बना हुआ है

‘ऐ मालिक तेरे बंदे हम’ आज भी लोकप्रिय

वी शांताराम की फिल्म ‘दो आंखें बारह हाथ’ सिनेमा दर्शकों में आज भी लोकप्रिय है | इस फिल्म का गाना ‘ऐ मालिक तेरे बंदे हम ऐसे हो हमारे करम’ आज भी खूब सुना और गाया जाता है | यहां हम आपको एक और जानकारी देना चाहेंगे कि दो आंखे बारह हाथ की शूटिंग के दौरान वी शांताराम को आंख में गंभीर चोट भी लगी थी | इस बात का खतरा था कि शांताराम की आंखों की रोशनी चली जाएगी, लेकिन भगवान की दुआ से उनकी आंखों की रोशनी बची रही | उसके बाद फिर उन्होंने फिल्मों में निर्देशन शुरू कर दिया था | ये कमाल वी शांताराम ही कर सकते थे कि उनकी अगली फिल्म जब बनकर तैयार होती थी तब तक उनकी पिछली फिल्म हॉल में लगी रहती थी |

अभिनेता जितेंद्र को भी लॉन्च किया था

वी शांताराम ने ‘गीत गाया पत्थरों ने’ बनाई | इस फिल्म के साथ ही अभिनेता जितेंद्र ने अपने फिल्मी करियर की शुरुआत की थी | इस फिल्म में शांताराम ने अपनी बेटी राजश्री को भी लॉन्च किया था | राजश्री वी शांताराम की दूसरी पत्नी जयश्री से उनकी औलाद थीं | इससे पहले उन्होंने विमलाबाई से विवाह किया था | इस फिल्म एक गाना ‘गीत गाया पत्थरों ने’ बहुत ही लोकप्रिय हुआ था | इसके अलावा सेहरा फिल्म का संगीत खूब पसंद किया गया | फिल्म के लगभग सभी गाने खूब चले | हसरत जयपुरी के लिखे गीत ‘पंख होते तो उड़ आती रे रसिया ओ बालमा’, ‘तकदीर का फसाना’ और ‘तुम तो प्यार हो सजनी’ को लोगों ने खास तौर पर खूब सराहा गया |

70 के दशक में शांताराम की फिल्मों का जादू फीका पड़ने लगा

70 के दशक में वी शांताराम का जादू फीका पड़ने लगा था | समाज ने उनकी फिल्मों को वो प्यार नहीं दिया जो उन्हें मिला करता था | वो लगभग फिल्मों से दूर हो चुके थे |1987 में उन्होंने ‘झांझर’ नाम की एक फिल्म सिर्फ इसलिए बनाई क्योंकि उन्होंने अपने नाती सुशांत रे से वायदा किया था वो उसे फिल्मों में लॉन्च करेंगे | इस फिल्म में पद्मिनी कोल्हापुरे ने भी अभिनय किया था | लंबे फिल्मी जीवन चक्र में वी शांताराम ने तमाम बड़े पुरस्कार हासिल किए | दर्शकों के बीच खास पहचान बनाने वाले महान फिल्मकार वी शांताराम का 88 वर्ष की आयु में 30 अक्टूबर 1990 में निधन हो गया | सही मायने में वह फिल्मों के जादूगर थे, उनकी भरपाई कोई नहीं कर पाया |

दादा साहेब फाल्के और पद्मविभूषण से किए गए थे सम्मानित

नेशनल फिल्म अवॉर्ड उसके बाद फिल्मों के लिए सर्वोच्च सम्मान ‘दादा साहब फाल्के’ पुरस्कार से भी शांताराम को सम्मानित किया गया था | उनके निधन के दाे साल बाद देश के दूसरे सर्वोच्च नागरिक सम्मान पद्मविभूषण से भारत सरकार ने उन्हें सम्मानित किया था |

शंभू नाथ गौतम


72092187.jpg

PriyamNovember 17, 20191min380

नई दिल्ली: बिग बॉस 13 (Big Boss 13) में बीते कुछ दिनों से देवोलीना भट्टाचार्जी  और सिद्धार्थ शुक्ला  के बीच कुछ अलग ही कहानी देखनो को मिल रही है। शो की शुरूआत में ये दोनों सदस्य हमेशा आपस में झगड़ा ही करते नजर आते थे, लेकिन दोबारा वापसी के बाद देबोलीना के व्यवहार में काफी बदलाव देखने को मिले हैं। पहले तो उन्होंने सिद्धार्थ शुक्ला के साथ दोस्ती करने की कोशिश की और अब इन दोनों को देखकर ऐसा लग रहा है जैसे इन दोनों की लव स्टोरी की शुरूआत हो चुकी है। सिद्धार्थ शुक्ला और देवोलीना आजकल एक दूसरे के काफी करीब नजर आते हैं।

घरवालों पर भारी सिद्धार्थदेबोलीना की जोड़ी

इतना ही नहीं ये दोनों सितारे एक दूसरे से बड़े ही प्यार से बात भी करते हैं। कई बार तो इन दोनों का प्यार बाकी घरवालों पर भारी पड़ जाता है। ऐसा ही नजारा आज के बिग बॉस 13 के एपिसोड में देखने को मिलने वाला है।

ऐसा हम नहीं कह रहे हैं बल्कि, बिग बॉस 13 का नया प्रोमो इस बात की तरफ इशारा कर रहा है। बिग बॉस के नए प्रोमो में देबोलीना सिद्धार्थ शुक्ला की गोद में बैठी नजर आ रही हैं। जी हां सही सुना आपने…। दरअसल, सलमान खान मस्ती मजाक के बीच घरवालों को एक टास्क देंगे।

जोड़ीदार को करनी पड़ेगी वैक्सिंग

इस टास्क के तहत घरवालों को जोड़ियों में बांट दिया जाएगा और हर जोड़ी से कुछ सवाल पूछे जाएंगे। अगर इन सवालों का जवाब न में आएगा तो दूसरे जोड़ीदार को वैक्सिंग करवानी पड़ जाएगी। ऐसे में घर के सभी लड़कों के हाल खराब हो जाएंगे।

विशाल आदित्य सिंह, हिंदुस्तानी भाऊ और पारस छाबड़ा समेत सभी लड़कों की हालत खराब हो जाएगी। अब वैक्स का तो दर्द होता ही कुछ ऐसा है। ऐसे में देवोलीना सिद्धार्थ शुक्ला को इस दर्द से बचाने के लिए उनकी गोद में जा बैठेंगी।

यह भी पढ़ें- रानू मंडल अपने मेकअप को लेकर हुईं ट्रोल, यूजर्स ने बताया भूत

ताजा प्रोमो में इस बात की झलक साफ देखने को मिल रही है। प्रोमो में देबोलीना सिद्धार्थ शुक्ला के गोद में बैठ कर वैक्स कर रही हैं। वहीं वैक्स से दर्द होने पर सिद्धार्थ शुक्ला देवोलीना को अपने गले से लगाते दिख रहे हैं।

सोशल मीडिया पर सिद्धार्थ शुक्ला और देवोलीना की ये प्यारी सी केमिस्ट्री काफी पसंद की जा रही है। वहीं प्रोमो में सलमान खान ये सब देखकर अपनी हंसी नहीं रोक पा रहे हैं।

श्वेता शर्मा


mr.jpg

PriyamNovember 16, 20192min370

नई दिल्ली (‘मरजावां’ रिव्यू): बॉलीवुड फिल्म इंडस्ट्री हमेशा से दमदार मसाला एंटरटेनर्स पेश करती आई है, जो दर्शकों को थिएटर के अंदर सीटियां बजाने पर मजबूर कर देती हैं। ऐसे में जब कोई प्रोडक्शन हाउस यह घोषणा करेगा कि वो साल 2019 की सबसे बेहतरीन मसाला फिल्म लेकर आ रहा है तो दर्शकों का उत्साह सांतवे आसमान पर पहुंच ही जाएगा। इसके ऊपर से अगर उस फिल्म का डायरेक्शन वो डायरेक्टर कर रहा हो, जो ‘सत्यमेव जयते’ जैसी ब्लॉकबस्टर मसाला फिल्म बॉक्स ऑफिस पर डिलीवर कर चुका हो तो उम्मीदों का हर स्तर को पार कर जाना लाजमी है। तो फिर देर किस बात की आइए जानते हैं कि सिद्धार्थ मल्होत्रा, तारा सुतारिया, रकुलप्रीत सिंह और रितेश देशमुख स्टारर फिल्म मरजावां‘  दर्शकों की उम्मीदों पर कितनी खरी उतर पायी है ?

फिल्म की कहानी रघु (सिद्धार्थ मल्होत्रा) की है, जो कि एक अनाथ लड़का है और उसे एक गुंडे अन्ना (नस्सर) ने पालकर बड़ा किया है। अन्ना रघु से ही अपने सारे गंदे काम कराता है और उसे खूब प्यार करता है। हालांकि रघु और अन्ना की कबीरियों से अन्ना का बेटा विष्णु (रितेश देशमुख) बहुत खुश नहीं है। वो रघु से इसी कारण नफरत करता है क्योंकि उसका बाप उससे ज्यादा एक सामान्य से गुंडे को तवज्जो देता है। इस वाद-विदाद के बीच रघु की जिंदगी में एंट्री होती है जोया (तारा सुतारिया) की, जिससे उसे प्यार हो जाता है। हालांकि इनका प्यार परवार चढ़ता उससे पहले ही विष्णु, रघु को जोया का कत्ल करने पर मजबूर कर देता है। इसके बाद रघु कैसे अपनी जोया की मौत का बदला विष्णु और उसके बाहुबली पिता से लेता है, यही मरजावां की कहानी है।

फिल्म मरजावां की खास बातें:

फिल्म मरजावां में केवल एक-दो ही ऐसे सीन्स हैं, जिन पर दर्शक वाकई सीटियां बजा सकते हैं। इन सीन्स में सिद्धार्थ मल्होत्रा और रितेश देशमुख की डायलॉगबाजी कमाल की है लेकिन उसके अलावा फिल्म के डायलॉग दर्शकों को लगातार हंसाते ही रहते हैं। गंभीर सीन्स में मिलाप जावेरी ने ऐसे डायलॉग रखे हैं कि दर्शक सोच में पड़ जाते हैं कि यहां रोना है या हंसना है ?

marjaavan review - socialahaफिल्म मरजावां की नकारात्मक बातें:

फिल्म मरजावां की नकारात्मक बातें गिनाने में एक अलग से थीसिस लिखी जा सकती है लेकिन ऐसा करना डायरेक्टर मिलाप जावेरी के साथ बेईमानी होगी। अगर उन्होंने मरजावां बनाते समय दिमाग नहीं लगाया है तो उनकी फिल्म की आलोचना करते समय दिमाग क्यों लगाया जाए ? हालांकि यह कहना जरूर बनता है कि मलाप जावेरी ने सत्यमेव जयते से जो स्टैंडर्ड सेट किया था, मरजावां के साथ वो पूरी तरह से खत्म कर लिया है। यह उनके द्वारा लिखी गई सबसे कमजोर फिल्म है।

यह भी पढ़ें- दिल बेचारा की रिलीज डेट में बदलाव

आखिरी फैसला:

फिल्म मरजावां उन लोगों को बिल्कुल नहीं देखनी चाहिए जो दमदार मसाला एंटरटेनर्स देखना पसंद करते हैं क्योंकि यह उनका ऐसी फिल्मों से विश्वास उठा सकती है। मरजावां केवल ऐसे फिल्म विद्धार्थियों के लिए है, जो मसाला एंटरटेनर्स बनाने का सपना देखते हैं। इस फिल्म को देखने के बाद उन्हें समझ आ जाएगा कि अपनी फिल्म बनाते समय क्या-क्या गलतियां नहीं करनी हैं। हमारी तरफ से सिद्धार्थ मल्होत्रा और रितेश देशमुख की फिल्म को 1.5 स्टार्स….।

श्वेता शर्मा


db.jpg

PriyamNovember 15, 20192min490

मुंबई: टीवी सीरियल पवित्र रिश्ता से लेकर फिल्म एमएस धोनी द अन्टोल्ड स्टोरी तक में धमाल मचाने वाले एक्टर सुशांत सिंह राजपूत जल्द ही आपको एक बार फिर बड़े पर्दे पर रोमांस करते नजर आने वाले हैं। सुशांत वैसे तो हाल ही में छिछोरे फिल्म में नजर आए थे। इस फिल्म ने पर्दे पर जमकर धमाल मचाया था। जिसके बाद सुशांत इन दिनों अपनी अपकमिंग फिल्म दिल बेचारा को लेकर खासा चर्चा में बने हुए हैं। हालांकि सुशांत की फिल्म की रिलीज डेट में बदलाव किया गया है। जिसकी जानकारी आज सोशल मीडिया के जरिए फैंस को दी गई। फिल्म की नई रिलीज डेट भी अब आप सबके सामने है।


आपको बता दें सुशांत सिंह राजपूत की फिल्म दिल बेचारा अगले साल 8 मई 2020 को बॉक्स ऑफिस पर दस्तक देने वाली है। इस बात की जानकारी फिल्म क्रिटिक तरण आदर्श ने ट्वीट करके दी है। तरण ने सोशल मीडिया पर फिल्म की नई रिलीज डेट बताते हुए एक पोस्टर भी शेयर किया है। इस फिल्म में सुशांत के अपोजिट एक्ट्रेस संजना संघी नजर आने वाली हैं। फिल्म में पहली बार दोनों एक साथ नजर आएंगे । ये एक लव स्टोरी होगी। फिल्म में फैंस को सुशांत और संजान की रोमांटिक केमेस्ट्री देखने को मिलने वाली है, जो कि पोस्टर में भी साफ देखने को मिल रहा है।


इस पोस्टर में सुशांत को-स्टार संजना को गले लगाए नजर आ रहे हैं। साथ ही संजना संघी की नाक में सांस लेने वाली पाइप लगी हुई नजर आ रही है। जिससे ये भी संकेत मिल रहे हैं कि संजना और सुशांत की लव स्टोरी में इमोशन भी देखने को मिलेगा। सुशांत सिंह राजपूत और संजना संघी की इस अपकमिंग फिल्म को मुकेश छाबड़ा ने डायरेक्ट किया है। फॉक्स स्टार स्टूडियो ने इस फिल्म को प्रोड्यूस किया है, हालांकि फिल्म की रिलीज डेट नवंबर से आगे क्यों टाली गई है, इसका कोई कारण अभी तक सामने नहीं आया है।


bb-2-e1573807138744.jpg

PriyamNovember 15, 20191min480

मुंबई: टीवी की संस्कारी बहू देवोलीना भट्टाचार्जी ने बिग बॉस (Big Boss 13) के घर में जाने के बाद अपना असली रंग दिखाना शुरू कर दिया है। पिछले कुछ दिनों से देवोलीना लगातार सिद्धार्थ शुक्ला अपना गुस्सा निकालती दिखाई दे रही है। बाकी कुछ घरवालों की तरह वो भी सिद्धार्थ शुक्ला को टारगेट बनती नजर आई। हाल ही के एपिसोड में दिखाई गया था कि देवोलीना भट्टाचार्य सिद्धार्थ शुक्ला पर भड़क गई और उनके बारे में गलत शब्दों का प्रयोग करते हुए चिल्लाती नजर आई।

इसके बाद उनका ये वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुआ साथ ही देवोलीना भट्टाचार्य के इस व्यवहार को लेकर वो लगातार ट्रोल हो रही है।

संयम खो रही हैं देवोलीना

सिद्धार्थ शुक्ला की करीबी दोस्त नताशा सिंह अब उनके समर्थन में आ गई है और शो के होस्ट सलमान खान को इसमें दखलअंदाजी करने की मांग की है। एक इंटरव्यू के दौरान नताशा सिंह ने बताया कि- ‘मुझे उम्मीद है कि शो के होस्ट सलमान खान ये सब कुछ देख रहे होंगे। वो एक अच्छे होस्ट है और पुरे हफ्ते का लेखा जोखा लेकर सच का साथ देते है।’ नताशा सिंह ने आगे कहा- ‘ देवोलीना भट्टाचार्य अपना सयम खोती दिखाई दे रही है। गालियों की बिल्कुल जरूरत नहीं थी।’

Devoleena vs Sid - socialahaवैसे आपको बात दें, देवोलीना भट्टाचार्य एंग्रीमैन सिद्धार्थ शुक्ला पर इतना गुस्सा हो गयी है वो उन पर चिल्लाती दिखी। उन्होंने ने इसके बाद अपने आपको बाथरूम में बंद कर लिया और रश्मि देसाई के साथ बात करते हुए गुस्से में सिद्धार्थ को गालियां भी दी।’ वैसे आपको बता दें, बिग बॉस के घर में रोज नया ड्रामा देखें मिल रहा है। दर्शक भी घर वालों के इस ड्रामे को मिल रहे है।

श्वेता शर्मा


Sania-Mirza-e1573798073846.jpg

PriyamNovember 15, 20192min970

नई दिल्ली: आज हम आपसे एक ‘स्टार सेलिब्रिटी’ की बात करेंगे | यह कोई बॉलीवुड की स्टार नहीं है और न ही क्रिकेट और हॉकी की खिलाड़ी है | वो उस खेल की खिलाड़ी है जो कि हमारे देश में अधिक लोकप्रिय भी नहीं है | हम आपको आज बताने जा रहे हैं भारत की टेनिस स्टार यानी सानिया मिर्जा के बारे में | सानिया का आज जन्मदिन है | आइए सानिया मिर्जा के खेल और इनकी जिंदगी के बारे में बात की जाए | टेनिस स्टार सानिया मिर्जा का जन्म 15 नवंबर 1986 को मुंबई (तब बंबई ) में हुआ था |

सानिया मिर्जा, sania mirza- socialahaअपने शानदार खेल की वजह से सानिया काे ‘स्टार की पदवी’ मिली साथ ही देश में टेनिस खेल को भी स्टार की तरह ही चमका दिया | सानिया आज अपना 33वां जन्मदिन मना रही हैं | अपने खेल और अपनी सुंदरता से सभी को प्रभावित करने वाली सानिया ने अपने करियर की शुरुआत महज 14 वर्ष की उम्र में की थी | मुंबई में जन्म लेने वाली मिर्जा का बचपन हैदराबाद में गुजरा और यहीं इस खिलाड़ी ने टेनिस भी खेलना शुरू किया था |

सानिया ने अपने करियर की शुरुआत वर्ष 1999 में की थी

सानिया मिर्जा का पारिवारिक पृष्ठभूमि खेलों से जुड़ा रहा है | उनके पिता इमरान मिर्जा प्रख्यात क्रिकेट खिलाड़ी गुलाम अहमद के रिश्ते में भाई हैं और वे स्वयं भी हैदराबाद सीनियर डिवीजन लीग के खिलाड़ी रह चुके हैं | सानिया के मामा फैयाज हैदराबाद रणजी टीम में विकेट कीपर रह चुके हैं | सानिया ने शुरुआती टेनिस की कोचिंग महेश भूपति के पिता और भारत के सफल टेनिस प्लेयर सीके भूपति से ली थी |

यह भी पढ़ें- ‘फ्लिकर सिंह’ का नेता से राजनेता बनने तक का सफर

सानिया ने अपने करियर की शुरुआत साल 1999 में करने के बाद वर्ष 2000 में सानिया ने पाकिस्तान में खेले गए इंटेल जूनियर चैंपियनशिप जी-5 मुकाबले में सिंगल और डबल गेम में जीत हासिल की थी | वर्ष 2003 से 2013 तक महिला टेनिस संघ के एकल और डबल में शीर्ष भारतीय टेनिस खिलाड़ी के रूप में अपना स्थान बनाए रखने में सफल रही और उसके बाद एकल प्रतियोगिता से उनकी सेवानिवृत्ति के बाद शीर्ष स्थान पर अंकिता रैना विराजमान हुई |

वर्ष 2003 से सानिया अपने शानदार खेल से विश्व स्तर पर चमकने लगी थी

साल 2003 उनके जीवन का सबसे रोचक मोड़ बना जब भारत की तरफ से वाइल्ड कार्ड एंट्री करने के बाद सानिया ने विम्बलडन में डबल्स के दौरान जीत हासिल की | वर्ष 2004 में बेहतर प्रदर्शन के लिए उन्हें 2005 में अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित भी किया गया | अक्टूबर 2005 में टाइम पत्रिका के द्वारा सानिया को एशिया के 50 नायकों में नामित किया गया था | मार्च 2010 में एक समाचार पत्र के द्वारा उन्हें भारत की गौरवान्वित 33 महिलाओं की सूची में अंकित किया गया |

सानिया मिर्जा, sania mirza- socialahaकेवल 18 वर्ष की आयु में वैश्विक स्तर पर चर्चित होने वाली इस खिलाड़ी को 2006 में ‘पद्मश्री’ पुरस्कार से सम्मानित किया गया |  सानिया यह सम्मान पाने वाली सबसे कम उम्र की खिलाड़ी हैं और उन्हें 2006 में अमेरिका में विश्वस्तर पर टेनिस दिग्गज हस्तियों के बीच डब्लूटीए का ‘मोस्ट इम्प्रेसिव न्यू कमर एवार्ड’ प्रदान किया गया था | साल 2005 के अंत में उनकी अंतरराष्ट्रीय रैंकिंग 42 हो चुकी थी जो किसी भी भारतीय टेनिस खिलाड़ी के लिए सबसे ज्यादा थी | साल 2009 में वह भारत की तरफ से ग्रैंड स्लैम जीतने वाली पहली महिला खिलाड़ी बन गईं |

टेनिस सुंदरी के लिए मुस्लिम समुदाय ने जारी किया था फतवा

सानिया का विवादों से भी नाता रहा | मुस्लिम परिवार से होने के कारण साल 2005 में एक मुस्लिम समुदाय ने उनके खेलने के खिलाफ फतवा तक जारी कर दिया था | इस सामुदाय ने टेनिस खेलते समय सानिया के कपड़े को लेकर आपत्ति जताई थी | इतना ही नहीं पाक क्रिकेटर शोएब मलिक के साथ शादी रचाने के बाद उनकी भारत में काफी आलोचना हुई थी |

सानिया ने टेनिस अकादमी की भी स्थापना की है

सानिया मिर्जा टेनिस अकादमी की भी स्थापना की है, जो भारतीय टेनिस खिलाड़ियों के लिए विश्व स्तर की टेनिस प्रशिक्षण प्रदान करने के उद्देश्य से मार्च 2013 में शुरू किया गया था | वर्तमान में सानिया तेलंगाना राज्य की ‘ब्रांड एंबेसडर’ हैं |

सानिया मिर्जा, sania mirza- socialaha
सानिया मिर्जा और शोएब मलिक

2017 में चोट लगने और मां बनने के बाद सानिया कोर्ट से बाहर हैं

सानिया मिर्जा डबल्स में पूर्व नंबर दो खिलाड़ी रह चुकी हैं | सानिया अक्टूबर 2017 में चोट लगने और फिर मां बनने के कारण दाे साल से कोर्ट से दूर हैं | आपको बता दें कि भारत की स्टार महिला टेनिस खिलाड़ी सानिया मिर्जा बेटे को जन्म देने के बाद फिर से कोर्ट पर लौटने की तैयारी कर रही हैं | टेनिस से लंबे समय तक दूर रहने पर सानिया मिर्जा ने कहा कि
वह अपने बच्चे के लिए यह भी उदाहरण खड़ा करना चाहेंगी कि गर्भावस्था, मातृत्व या पितृत्व कोई ऐसी चीज नहीं है, जिसे आपके सपने में बाधक बनना चाहिए | उन्होंने कहा था कि वह साल 2020 ओलिंपिक के लिए फिर से कोर्ट पर लौटना चाहती हैं |

अपने टेनिस करियर में बहुत कुछ हासिल कर चुकी हैं सानिया

भारत की स्टार टेनिस खिलाड़ी सानिया मिर्जा ने कहा है कि अपने कैरियर में वह इतना कुछ हासिल कर चुकी है कि अब दूसरी पारी में उन्हें ‘कुछ साबित नहीं करना’ हैं | अपने सुनहरे करियर में सानिया ने छह युगल ग्रैंडस्लैम खिताब जीते और विश्व रैंकिंग में नंबर एक तक पहुंची | इसके अलावा स्विटजरलैंड की मार्तिना हिंगिस के साथ डब्ल्यूटीए सर्किट पर कई खिताब जीते | सानिया ने अभी हाल ही में कहा था कि ‘मैने अपने करियर में इतना कुछ हासिल किया है कि कभी सोचा भी नहीं था | अब अगली पारी में जो होगा, वह मेरे लिए बोनस होगा |

सानिया मिर्जा, sania mirza- socialahaमेरा बेटा मेरे लिए सबसे बड़ा उपहार है

टेनिस स्टार सानिया मिर्जा ने कहा कि मेरा बेटा इजहान मेरे लिए सबसे बड़ा उपहार है | यदि मैं वापसी कर सकी तो यह शानदार होगा | मेरा बेटा फिर से फिट होने के लिए मेरी प्रेरणा रहा है | यदि मैं वापसी करती भी हूं तो मुझे कुछ साबित नहीं करना है | वापसी का एकमात्र कारण होगा कि मुझे खेलना पसंद है | सानिया ने कहा कि अगले दो महीने में पता चल जाएगा कि मेरा शरीर कैसे रहता है | पूरी तरह फिट नहीं होने पर मैं नहीं खेलूंगी | वापसी करके चोटिल होने का कोई मतलब नहीं है | उम्मीद है कि सानिया जल्द ही फिट होकर कोर्ट पर लौटेंगी और देश के करोड़ों टेनिस प्रेमियों को फिर से वह किसी न किसी उपलब्धि की सौगात देंगी |

शंभू नाथ गौतम