Standard layout


Perfect for most of the websites you could need, with lots of categories and examples laid out.


VIEW NOW


Sport Portal


If you’re a sport editor, or just a sport person then this example could fit you perfectly.


VIEW NOW


News Portal


Perfect for most of the websites you could need, with lots of categories and examples laid out.


VIEW NOW


Magazine Portal


If you prefer flashy colors, a bit magazine-like layout, then this example is perfect for you.


VIEW NOW


Screenshot_2019-11-19-00-31-49-184_com.whatsapp_20191119_003212425-1280x640.jpg

abhiNovember 18, 20191min220

रेलवे की एक लापरवाही का बड़ा मामला सामने आया है। जिसमे जबलपुर से चलकर दिल्ली की ओर जाने वाली महाकौशल एक्सप्रेस ट्रेन की बोगियों में से एस11 बोगी गायब हो गई। इतना ही नही रेलवे के द्वारा यात्रियों को एस11 बोगी की रिजर्वेशन की टिकट भी दी गई, बोगी न होने और एस11 की रिजर्वेशन की टिकट लेकर यात्री परेशान हो रहे पर यात्रियों की समस्या हल नही हुई। जिसके बाद यात्रियों ने कटनी स्टेशन पर हंगामा कीया और करीब 20 मिनट तक चैन पीलिंग कर ट्रेन रोकी।

रेलवे की लापरवाही के चलते करीब एक दर्जन यात्रियों को जबलपुर से कटनी स्टेशन पर भारी समस्या का सामना करना पड़ा, यात्रियों को रेलवे के द्वारा एस11 की रिजर्वेशन टिकट तो दे दी गई थी पर ट्रेन में एस11 बोगी ही गायब थी। यात्रियों ने कटनी स्टेशन पर हंगामा किया साथ ही ये भी आरोप लगाया कि ट्रेन में टीसी उपलब्ध नही था जिसके चलते उन्हें अपनी रिजर्वेशन सीट के लिए परेशानी उठानी पड़ी। यात्रियों का बढ़ता हंगामा देख कर कुछ समय बाद टीसी एस10 की बोगियों के पास पहुचे और अपनी परेशानी जाहिर की बाद मे ट्रेन को आगे की यात्रा के लिए रवाना किया गया। वही कटनी स्टेशन मास्टर तकनीकी बात कहते नजर आए साथ ही उन्होंने कहा की कुछ कारणों से यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ा है फिलहाल उनके द्वारा भी कोई संतोष जनक जवाब नही मिला।

भले ही रेलवे अपने यात्रियों को सुविधा देने का दावा कर ले पर इस तरह के मामलों से बात साफ हो जाती है कि रेलवे यात्रियों से यात्रा की राशि तो ले लेती है पर सुविधा के नाम पर खोखले दावे सामने आते है।


IMG-20191118-WA0060_20191118_203619702-1280x800.jpg

abhiNovember 18, 20191min110

अयोध्या– राम मंदिर आंदोलन में शहीद कोठारी बन्धुओं की बहन पूर्णिमा कोठारी व प्रेस क्लब अयोध्या के अध्यक्ष महेंद्र त्रिपाठी ने सीएम योगी से उनके आवास लखनऊ 5 कालिदास में मुलाकात किया। मुलाकात के दौरान पूर्णिमा कोठारी ने सीएम योगी से बनने वाले राममंदिर में शहीद हुए बलिदानी कोठारी बन्धु राम कुमार व शरद कुमार कोठारी की याद में स्मृति भवन बनाने की मांग की, जिस पर सीएम योगी ने कोठारी बन्धुओं की बहन पूर्णिमा कोठारी को आश्र्वासन दिया।

कोठारी बंधुओं की वीरता का इतिहास

जब 21 से 30 अक्टूबर 1990 तक अयोध्या में लाखों की संख्या में कारसेवक जुट चुके थे। सभी कारसेवक विवादित स्थल की ओर जाने की तैयारी में थे। विवादित स्थल के चारों तरफ भारी सुरक्षा थी और अयोध्या में लगे कर्फ्यू के बीच सुबह करीब 10 बजे चारों दिशाओं से बाबरी मस्जिद की ओर कारसेवक बढ़ने लगे। इनका नेतृत्व कर रहे थे अशोक सिंघल, उमा भारती, विनय कटियार जैसे आज के बड़े नेता। इसी दिन बाबरी मस्जिद के गुंबद पर शरद (20 साल) और रामकुमार कोठारी (23 साल) नाम के भाइयों ने भगवा झंडा फहराय

ऐसे फहराया था तिरंगा

कोठारी भाइयों के एक कथित दोस्त के अनुसार 22 अक्टूबर की रात शरद और रामकुमार कोठारी कोलकाता (तब कलकत्ता) से चले थे और बनारस आकर रुक गए थे। सरकार ने ट्रेनें और बसें बंद कर रखी थीं तो दोनों भाई टैक्सी से आजमगढ़ के फूलपुर कस्बे तक आए, लेकिन इसके बाद यहां से सड़क का रास्ता भी बंद था। फिर दोनों 25 अक्टूबर को अयोध्या की तरफ पैदल निकले पड़े। करीब 200 किलोमीटर पैदल चलने के बाद 30 अक्टूबर को दोनों अयोध्या पहुंचे और 30 अक्टूबर को गुंबद पर चढ़ने वाला पहला आदमी शरद कोठारी ही था। जिसके बाद फिर उसका भाई रामकुमार भी चढ़ा और दोनों ने वहां भगवा झंडा फहराया था.2 नवंबर को दोनों भाइयों की गई जानचश्मदीदों के अनुसार 30 अक्टूबर को गुंबद पर झंडा फहराने के बाद शरद और रामकुमार 2 नवंबर को विनय कटियार के नेतृत्व में दिगंबर अखाड़े की तरफ से हनुमानगढ़ी की तरफ जा रहे थे। जब पुलिस ने गोली चलाई तो दोनों पीछे हटकर लाल कोठी वाली गली के एक घर में छिप गए। लेकिन थोड़ी देर बाद जब वे दोनों बाहर निकले तो पुलिस फायरिंग का शिकार बन गए और दोनों ने मौके पर ही जान गंवा दी।


ss.jpg

PriyamNovember 18, 20191min120

नरसिंहपुर: जो अक्सर अपने बयानों के चलते विरोधियों के निशाने पर रहते हैं। फिर चाहे वो राजनीतिक मुद्दा हो या फिर धर्म आध्यत्म से जुड़ा मामला। साईं बाबा के मामले में राष्ट्रव्यापी बहस छेड़ने वाले द्वारका पीठ एवं ज्योतिष पीठ के शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती महाराज  लगातार चर्चा में अपने बयानों से रहते हैं। इस बार भी उन्होंने ऐसा ही कुछ बयान दिया है जिसके बाद वो चर्चा में आए।

गौरतलब है कि 9 नवंबर को देश के सर्वोच्च न्यायालय ने ऐतिहासिक फैसला सुनाते हुए देश के सबसे पुराने मुद्दों में से एक अयोध्या राम मंदिर विवाद को सुलझाया। कोर्ट ने अपने फैसले मे मुख्य रूप से विवादित जमीन पर रामलला पक्षकार का हक बताया और तीन महीने में केंद्र सरकार को ट्रस्ट बनाकर मंदिर के निर्माण के नियम तय करने का आदेश दिया।

यह भी पढ़ें- अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण पर साधु-संतों में विवाद

लेकिन जैसा कि पहले भी हमने आपको बताया था कि अयोध्या में ट्रस्ट रूपी प्रसाद का स्वाद चखने के लिए साधु -संत आपस में भिड़ने लगे हैं। वहीं अब इस मामले पर शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती ने भी अलग ही बयान दे डाला है। दरअसल स्वरूपानंद का कहना है कि अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का जिम्मा उन्हें सौंप देना चाहिए । उन्होंने कहा कि, रामलला जहां विराजमान हैं वहां हम स्वर्ण  मंदिर का निर्माण कराएंगे। हम विधि विधान और शास्त्रों के मुताबिक राम मंदिर का निर्माण कराएंगे। उन्होंने ये भी कहा कि हम कौशल्या की गोद मे बैठे राम की स्थापना करना चाहते हैं धनुर्धारी राम की नहीं ।

कंबोडिया के अंकोरवाट मंदिर की तरह निर्माण होना चाहिए

वहीं स्वरूपानंद सरस्वति का ये भी कहना है कि राम मंदिर का निर्माण भव्य और विशाल होना चाहिए। क्योंकि करोड़ लोग राम के दर्शन करने आएंगे, यदि हादसा हुआ तो भगदड़ मचेगी। इसलिए कंबोडिया के अंकोरवाट मंदिर की तरह होना चाहिए राम मंदिर का निर्माण।

रिपोर्ट- गोविंद यादव


dcdedf.png

SocialahaNovember 18, 20194min270

बिग बॉस 13’ के दो बड़े ‘दुश्मन’ देवोलीना भट्टाचार्जी और सिद्धार्थ शुक्ला को आप लोग जानते ही हैं । दोनों के बीच अभी दोस्ती की शुरुआत हुई ही थी कि अचानक एक टास्क ने उन्हें फिर से ‘दुश्मन’ बना देगा । बीते कुछ दिनों से देवोलीना और सिद्धार्थ एक दूसरे के साथ मस्ती कर रहे थे और खूब मजे ले रहे थे । जो देखने में काफी मस्ती भरा लग रहा था । ‘दुश्मन’ से अभी हॉल में दोस्त बने सिद्धार्थ शुक्ला और देवोलीना की फ्लर्टिंग घर वालों को पंसद आ रही थी , और दर्शकों भी काफी मजे से देख रहे थे , लेकिन अपकमिंग एपिसोड में देवोलीना,को सिद्धार्थ शुक्ला ने बाथरूम में बंद कर दिया था और वह बाथरूम से बाहर आने के बाद सिदार्थ शुक्ला समेत सभी घर वालों पर एक बार फिर भड़कती नजर आएंगी ।

कलर्स ने अपने इंस्टाग्राम पर आज का एपिसोड का एक वीडियो शेयर किया है जिसमें अगले टास्क की एक झलक साफ साफ नजर आ रही है । इस टास्क में दिखाया गया है कि चोरों की 2 टीम बनाई गई है । शेफाली जरीवाला और देवोलीना भट्टाचार्जी दोनों लोग चोर बने हैं । वीडियो में दिख रहा है टास्क में दिखाया गया है कि सारे घर वाले एक दूसरे का सामान चुरा के छुपा रहे हैं । और हर तरफ अफरा तफरी मची हुई है , और तभी मस्ती के मूड में सिद्धार्थ शुक्ला कहते हैं कि दोनों चोर को पकड़कर बाथरूम में बंद कर दो ।


इसके बाद घर वाले शेफाली और देवोलीना को बाथरूम में बंद कर देते हैं, लेकिन तभी सिद्धार्थ ने देवोलीना के बाथरूम के दरवाजे बंद कर देते हैं । इसके बाद देवोलीना लगातार दरवाजा पीटती और आवाज देती हैं कि कोई दरवाज़ा खोल दो और दरवाजा खोलने के बाद वह बाहर आती हैं । इसके बाद देवोलीना बाहर आने के बाद वह सारे घर वालों पर जोरदार भड़कती हैं। हालांकि देवोलीना का दरवाज़ा कौन खोलेगा ये वीडियो में नहीं दिखाया गया है।


fes.jpg

Sonu SharmaNovember 18, 20191min330

नई दिल्ली: यूपी में दुष्कर्म के मामले कम होने का नाम नही ले रही हैं। एक और यूपी को शर्मसार करने वाला मामला सामने आ रहा हैं। 13नवंबर को नोएडा में एक युवती के साथ गैंग रेप का मामला सामना आया जिसने अब एक अलग मोड़ ले लिया हैं। नोएडा के बहलोलपुर में पुलिस चौकी से चंद कदम की दूरी पर बने पार्क में सामूहिक दुष्कर्म की शिकार पीड़िता ने बताया कि हैवानियत के दौरान जब उसने शोर मचाया तो कुछ लोग मदद के लिए पहुंचे जरूर, लेकिन उन्होंने भी उसका बलात्कार किया।

यह भी पढ़ें- बांग्लादेश में प्याज ने रूलाया, तो पाकिस्तान में टमाटर के दामों ने किया परेशान

मामले में गौतमबुद्धनगर के एसएसपी वैभव कृष्ण ने बताया कि आरोपित रवि पीड़ित युवती को जानता था इसलिए उसके बुलाने पर युवती पार्क में पहुंची थी। दरअसल, रवि ने युवती से नौकरी से जुड़ी जरूरी बात के लिए उसे मिलने के लिए बुलाया था। जैसे ही युवती पार्क में पहुंची तो वहां मौजूत रवि के साथ साथियों ने उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया। यह भी पता चला है कि आरोपति रवि के साथ उसका भाई भी पीड़िता को जानता था, लेकिन बता दें कि रवि ने युवती के साथ दुष्कर्म नहीं किया।
साथ ही बता दें कि युवती के साथ सामूहिक दुष्कर्म करने वाले सारे आरोपित शराब के नशे में थे। मामले में पुलिस को यह भी जानकारी मिली है कि आरोपित रवि ने 7वीं तक पढ़ाई की है तो ब्रजकिशोर ने 11वीं, पीतांबर ने 8वीं और उमेश सिर्फ 5वीं कक्षा तक पढ़ा है।

यह भी पढ़ें-झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास के खिलाफ लड़ेंगे उन्ही के मंत्री सरयू राय

पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक, आरोपित युवती मूलरूप से उत्तर प्रदेश के कासगंज की रहने वाली है और फिलहाल बेरोजगार थी और अपने माता-पिता के साथ छिजारसी में रह रही थी। जहां आरोपित कम पढ़े-लिखे थे वहीं, पीड़ित युवती ग्रेजुएट है, लेकिन उसे नौकरी नहीं मिल रही थी। बताया जा रही है कि सामूहिक दुष्कर्म की शिकार युवती की पिटाई भी की गई, जिससे उसके संवेदनशील अंगों में चोट भी आई है। यही वजह है कि इलाज के दौरान उसे राहत नहीं मिल पाई है13 नवंबर से आज 18 नवंबर हो गई यूपी पुलिस इस मामले में कुछ नही कर रही हैं


l.k.jpg

Sonu SharmaNovember 18, 20191min430

नई दिल्ली: पाकिस्तान और बांग्लादेश के लोग महंगाई की मार झेल रहें हैं। पाकिस्तान में टमाटर के दामों ने लोगों को परेशान कर रखा हैं तो वहीं बांग्लादेश के लोग प्याज खाने को तरस रहे हैं। पाकिस्तान में टमाटर मंहगा होने पर वहां के हालात ऐसे हो गए हैं कि लोगों ने टमाटर खाना बंद कर दिया हैं। बता दें कि पाकिस्तान में टमाटर का दाम 300 रुपये किलो हो गया हैं।

व्यापारियों को टमाटर पहले 240 रुपये प्रति किलो मिल रहा था जो अब कम होकर 200 रुपये प्रति किलो हो गया हैं। वहां के लोग अब जरूरत के हिसाब से एक या दो टमाटर खरीद रहें हैं। पाकिस्तान में 250 ग्राम टमाटर 80 रुपये का बिक रहा हैं। जानकारी के अनुसार ना सिर्फ टमाटर बल्कि पाकिस्तान में प्याज का दाम भी बढ़ा है। विक्रेता एक किलो प्याज 90 से 100 रुपये में बेच रहे हैं। जबकि पहले यह 80 रुपये प्रति किलो के भाव से बिक रहा था। प्याज का खुदरा दाम 70 रुपये प्रति किलो है।

यह भी पढ़ें-फिल्मों के जादूगर और सिनेमा जगत का ‘पितामह’ कहा जाता है उन्हें

वहीं अब हम प्याज की बात पर आ ही गए हैं तो बता दें कि बांग्लादेश में प्यार ने आंखो में आसू लाना शुरू कर दिया हैं और यहां आंख में आसू बिना प्याज काटे आ रहें हैं। जी हां बांग्लादेश में प्याज के दाम आसमान छू रहें हैं। आप ये जानकर हैरान होंगे कि बांग्लादेश में एक किलो प्याज के लिए लोग 260 टका यानी 220 रुपये चुका रहे हैं। वहीं भारत में एक किलो प्याज का दाम 60 – 70 रुपये के बीच है। आमतौर पर बांग्लादेश में एक किलो प्याज 30 टका यानी करीब 26 रुपये का मिलता था। यानी अब प्याज का दाम 10 गुना बढ़ गया है।

इसलिए बांग्लादेश की सरकार ने हवाई जहाज से तुरंत प्याज आयात करने का फैसला किया है। यहां प्याज का कितना संकट है इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि प्रधानमंत्री शेख हसीना ने मैन्यू से प्याज को हटा दिया है। हसीना ने प्याज खाना बंद कर दिया है।

यह भी पढ़ें- रिलीज हो गया फिल्म मलंग का शानदार फर्स्ट लुक

इस परेशानी को देखते हुए हवाई जहाज से जल्द बांग्लादेश में प्याज लाया जाएगा। बता दें कि बांग्लादेश मे प्याज की कमी भारत तरफ से निर्यात पर लगाए गए प्रतिबंध की वजह से हुई है। भारत ने ज्यादा बारिश की वजह से प्याज की फसल खराब होने के बाद सितंबर के आखिरी महीने में प्याज के निर्यात पर रोक लगा दी थी।

वहीं बांग्लादेश के प्रधानमंत्री ने आवास में बने किसी भी खाने में प्याज का इस्तेमाल करने पर रोक लगा दी हैं। प्याज की कमी की वजह से इसके दाम लोगों को रूला रहें है। पड़ोसी देश में प्याज बढ़ने की वजग भारत है। भारत रके निर्यात के रोक जाने से ही बांग्लादेश को इस परेशानी का समाना करना पड़ रहा हैं। इसके साथ ही पाकिस्तान की हालत भी खराब हो रही हैं।


jhk-1.jpg

SocialahaNovember 18, 20191min480

 नई दिल्ली : सर्दी के इस मौसम में झारखंड विधानसभा का राजनीतिक तापमान काफी बढ़ा हुआ है। रघुवर सरकार में मंत्री सरयू राय के बागी तेवर के कारण मुख्यमंत्री रघुवर दास फिलहाल चक्रव्यूह में फंसे हुए नजर आ रहे हैं। विधानसभ चुनाव का टिकट न मिलने से नाराज बीजेपी के वरिष्ठ नेता और मंत्री सरयू राय ने पार्टी के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। सरयू राय ने रविवार को जमशेदपुर पूर्वी और पश्चिमी यानी दो सीटों से निर्दलीय चुनाव लड़ने की घोषणा की है। जमशेदपुर पूर्वी सीट से भाजपा ने मुख्यमंत्री रघुवर दास को टिकट दिया है। ऐसे में मंत्री का मुकाबला मुख्यमंत्री से होगा।

रघुबर दास
  रघुबर दास 

सरयू राय ने बताया कि वह सोमवार को जमशेदपुर पूर्वी और पश्चिमी दोनों ही सीट पर नामांकन करेंगे। उन्होंने यह भी कहा कि जमशेदपुर पूर्वी पर ज्यादा समय दूंगा। इसलिए जमशेदपुर पश्चिमी को वहां के कार्यकर्ता ही देखेंगे। मुख्यमंत्री रघुवर दास का भी सोमवार को नामांकन करने का कार्यक्रम है। इससे पहले शनिवार को भाजपा ने प्रत्याशियों की चौथी लिस्ट जारी की थी। इसमें भी नाम नहीं होने पर सरयू राय ने कहा था- मैं पार्टी को असमंजस से मुक्त करता हूं। पार्टी मेरे नाम पर अब जमशेदपुर पश्चिम विस सीट के लिए विचार न करे। मुझे पार्टी का टिकट नहीं चाहिए। उन्होंने शनिवार को ही दोनों सीटों से पर्चा ले लिया था। मुख्यमंत्री रघुवर दास के मंत्रिमंडल में सरयू राय मंत्री हैं। इसके बाद भी वे सरकार का खुलकर विरोध करते हैं। कई नीतिगत फैसलों पर उन्होंने सरकार का विरोध किया। एक समय तो उन्होंने मंत्री पद से इस्तीफा देने तक की पेशकश कर ली थी। कई बार कैबिनेट की बैठक तक में सरयू राय शामिल नहीं हुए।

यह भी पढ़ें- झारखंड चुनाव में बीजेपी नहीं दोहराना चाहेगी महाराष्ट्र जैसी गलती
झारखंड विधानसभा के अब तक हुए तीन चुनाव में सरयू राय ने जमशेदपुर पश्चिमी सीट पर भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़ा था। इसमें 2005 और 2014 में उन्होंने इस सीट पर जीत हासिल की थी। 2009 के विस चुनाव में कांग्रेस ने इस सीट पर कब्जा जमाया था। राज्य में दूसरे चरण में 20 विधानसभा सीटों पर मतदान होना है। इसमें जमशेदपुर पूर्वी और पश्चिमी सीट भी हैं। यहां नामांकन 18 नवंबर तक होगा। नाम वापसी 21 नवंबर को वहीं मतदान 7 दिसंबर को है। इधर कांग्रेस ने भी बीती रात एकाएक जमशेदपुर पूर्वी सीट से प्रो गौरव बल्‍लभ को उतारकर माहौल को और गरमा दिया है। महागठबंधन में कांग्रेस के रुख से झामुमो के कार्यकारी अध्‍यक्ष हेमंत सोरेन सकते में हैं। उन्‍होंने तमाम विपक्षी दलों से सरयू राय का समर्थन करने की अपील की है।

यह भी पढ़े-झारखंड चुनाव में बीजेपी नहीं दोहराना चाहेगी महाराष्ट्र जैसी गलती

जमशेदपुर में सरयू राय ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि हमारी परंपरा यही है क हम सब मिलकर फैसला लेते आए हैं। विधानसभा चुनाव की इस घड़ी में बताना चाहता हूं कि जमशेदपुर पश्चिमी सीट का विधायक होने के नाते पूरी निष्‍ठा से काम किया है। पिछड़े इलाके का पूरा विकास का बीड़ा उठाया है। सबके सुख-दुख में हम साथ रहे हैं।
सरयू ने कहा कि उन्‍होंने पार्टी से आजतक कुछ नहीं मांगा। उनका टिकट होल्‍ड पर रखे जाने से बहुत बुरा लगा। उन्‍होंने कहा कि वे सरकार में पांच साल कैबिनेट मंत्री रहे। जहां गलत हुआ, उन्‍होंने खुलकर इसका विरोध किया। समर्थकों की नारेबाजी के बीच कहा कि गलत करने वाला वहीं जाएगा, जहां मधु कोड़ा गए थे।

प्रधानमंत्री के भ्रष्‍टाचार के खिलाफ जीरो टॉलरेंस का जिक्र करते हुए कहा कि यही बात वे करते हैं, तो लोगों को बुरा लगता है। भाजपा नेता सरयू राय भले ही अपने दल के खिलाफ खड़े हो गए है, लेकिन तमाम विपक्षी पार्टियां उन्हें लपकने को आतुर है। झामुमो ने भी उनके सम्मान के बारे में चिंता करते हुए कहा कि सरकार के भ्रष्टाचार को उजागर करने वाले को इस तरह से टिकट से वंचित करना चिंताजनक है। झामुमो के महासचिव सुप्रियो भट्टाचार्य ने यहां तक कह दिया कि भ्रष्टाचार के संरक्षक मुख्यमंत्री रघुवर दास के भ्रष्टाचार को सरयू राय हमेशा उठाते रहे है । उनके ही आधार मानकर उन्हें टिकट नहीं दिया जा रहा है। हालांकि उन्होंने कहा कि टिकट देना या नहीं देना भाजपा का अंदरूनी मामला है।

रिपोर्टः- अशोक कुमार


yXVx6R3_.jpg

Sonu SharmaNovember 18, 20191min450

नई दिल्ली: दिल्ली में विधानसभा चुनाव से पहले मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल दिल्लीवासियों के लिए कुछ ना कुछ मुफ्त योजना शुरू कर रहें हैं। दिल्ली में बिजली, पानी, महिलाओं के लिए मुफ्त यात्रा के बाद अब मुख्यमंत्री ने मुफ्त सीवर योजना की भी शुरूआत कर दी हैं। मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा की दिल्ली के जिन इलाकों मे सीवर लाइन हैं और वहां लोगों ने कनेक्शन नही लिया है उनको 31 मार्च तक का समय दिया जा रहा हैं ताकि वो सीवर लाइन का कनेक्शन ले लें साथ ही उन्होंने कहा की सीवर लाइन लेने का 31 मार्च तक कोई चार्च नही लिया जाएगा।


बता दें कि सीवर लाइन के लिए अप्लाई करने वाले लोगों से डवलपमेंट, कनेक्शन और रोड कटिंग चार्ज नही लिया जाएगा। खुद से सीवर लाइन लगाने में लोगों की अच्छी खासी जेब ढीली हो जाती हैं मान लें अगर आप 100 मीटर के हिसाब से देखे तो एक व्यक्ति पर सीवर लाइन लगाने का खर्च 10 से 15 हजार रुपये का आता हैं। आम आदमी के लिए बुहत बड़ी रकम हैं। बता दें कि इस योजना के शुरू होने के बाद करीब 2लाख 34लाख लोगों का फायदा होगा।

इसे पहले मुख्यमंत्री ने शुक्रवार को सेप्टिक टैंक मुख्यमंत्री योजना की शुरुआत की है। उन्होंने कहा कि इससे दिल्ली में सेप्टिक टैंक में उतरकर अब किसकी मौत नहीं होगी और इससे दिल्ली व यमुना को साफ होगी। उन्होंने कहा है कि अभी तक जो भी स्पिटक टैंक साफ करते थे वो बिना किसी सुरक्षा उपकरणों के लोगों को उसमें उतर देते थे। इतना ही नहीं मलबा निकालकर उसे नाले में डाल देते थे जिससे दिल्ली में और यमुना गंदी हो जाती है।


‘सेप्टिक टैंक सफाई योजना’ में सेप्टिक टैंक की फ्री में सफाई होगी। केजरीवाल नें कहा कि इसके लिए अगले महीने टेंडर निकाला जाएगा। जिस कंपनी को टेंडर मिलेगा वह अपने 80 ट्रैक लगाएगी। कोई भी फोन करके सेप्टिक टैंक साफ करने की मांग कर सकता है। फिर उस शख्स को वो उसके हिसाब से समय दिया जाएगा।

कंपनी सेप्टिक टैंक से मलबा उठाकर एसटीबी प्लांट में ले जाएगी। इस तरह से ऑथराइजड और लीगल तरीके से काम होगा और यह दिल्ली की सफाई की दिशा में बड़ा कदम होगा।साथ ही यह यमुना की सफाई में बड़ा कदम होगा। उन्होंने कहा कि इससे सबसे ज्यादा फायदा दिल्ली की कच्ची कलोनियों में रहने वाले लोगों को फायदा होगा। ऐसी मुफ्त योजना शुरू करने के पीछे केजरीवाल की योजना विधानसभा में जीत हासिल करने के लिए कर रहे हैं। देखना अब यह होगा की दिल्ली की जनता केजरीवाल की योजनाओं को कितना पंसद कर रही हैं।


fwe.jpg

Sonu SharmaNovember 18, 20191min350

नई दिल्ली: आदित्य रॉय कपूर और दिशा पटानी की फिल्म मलंग का फर्स्ट लुक रिलीज हो चुका है। रिलीज हुए फिल्म के फर्स्ट लुक में आदित्य रॉय कपूर बेहद हॉट एंड सेक्सी दिख रहे हैं तो वहींदिशा पाटनी भी अपनी अदाओं से किसी को भी घायल कर देने के लिए बिल्कुल तैयार दिख रही है। मोहित सूरी के निर्देशन में बन रही इस फिल्म को मेकर्स साल 2020 के वैलेंटाइन डे यानी कि 14 फरवरी को रिलीज करने वाले है। कुछ दिनों ही पहले इस फिल्म की शूटिंग पूरी हुई थी। अब फिल्म के इस धमाकेदार फर्स्ट लुक को देख आपको इसके ट्रेलर का इंतजार बढ़ जाने वाला है।

यह भी पढ़ें- आमिर खान की फिल्म ‘लाल सिंह चड्ढा’ का पहला लुक आया सामने

मस्ती में चूर आदित्यदिशा

बीते दिन बॉलीवुड स्टार आदित्य रॉय कपू का जन्मदिन था। उनके बर्थडे की शाम को और भी रंगीन बनाने के लिए मेकर्स ने इस फिल्म से उनका फर्स्ट लुक रिलीज कर दिया है। जारी किए गए इस फर्स्ट लुक में आदित्य रॉय कपूर और दिशा पाटनी गोवा की मस्ती में चूर दिख रहे है।

इस फिल्म को भूषण कुमार प्रोड्यूस कर रहे हैं जबकि उनके साथकृष्ण कुमारलव रंजनअंकुर गर्ग और जय शेवाकृमानी इसके को-प्रोड्यूसर है। इस फिल्म में पहली बार दिशा पाटनी और आदित्य रॉय कपूर साथ काम कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें-फिल्म ‘मरजावां’ रिव्यू: कलाकारों की अदाकारी की तारीफ करना होगी बेईमानी !

साल 2020 एक्ट्रेस दिशा पाटनी के लिए खास होने वाला है। इस साल की शुरुआत जहां उनकी आदित्य रॉय कपूर स्टारर फिल्म मलंग रिलीज होनी है। तो वहींवो सलमान खान के साथ फिल्म राधे-यॉर मोस्ट वॉन्टेड भाई में दिखने वाली है। इस फिल्म में वो एक जबरदस्त डांस नंबर करने वाली है। जिसकी तैयारी इन दिनों जोरों पर है। इस फिल्म को प्रभुदेवा निर्देशित करने वाले है।

श्वेता शर्मा