Cyclone Amphan- 21 साल पहले 9000 जान लेने के बाद फिर देश की चौखट पर खड़ा तूफान !

Cyclone Amphan, Amphan In India, Socialaha

नई दिल्ली: कोरोना संकट के बीच देश में चक्रवाती तूफान अम्फान (Cyclone Amphan) भी बुरी तरह आफत बन चुका है। मौसम विभाग के मुताबिक, चक्रवाती तूफान अम्फान आने वाले कुछ घंटों में विकराल रूप लेने वाला है। गौरतलब है कि कि इस संकट को लेकर गृह मंत्रालय और केंद्र सरकार लगातार एक्टिव हैं और मौसम विभाग से लगातार हालातों का जायजा लिया जा रहा है।

20 मई की तारीख खतरनाक

मौसम विभाग के मुताबिक, शक्तिशाली तूफान अम्फान (Cyclone Amphan) के बंगाल के उत्तर-पश्चिमी खाड़ी के पार उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ने और पश्चिम बंगाल के दीघा और बांग्लादश के हटिया द्वीप तटों को पार करने की संभावना है। बताया जा रहा है कि 20 मई की दोपहर या शाम तक यह चक्रवाती तूफान 165-175 किलोमीटर की रफ्तार से बढ़कर 275 किलोमीटर की रफ्तार में सबसे विकराल रूप में आ सकता है। इससे निपटने के लिए सेना और जल सेना और वायुसेना को अलर्ट रहने को कहा गया है। इस तूफान के कारण बंगाल ओडिशा में भारी नुकसान की आशंका है।

यह भी पढ़ें- स्पोर्ट्स स्टेडियम में दर्शकों की जगह रख दी गईं ‘सेक्सी डॉल’

1999 में गई थीं 9000 जान

भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) के महानिदेशक मृत्युंजय महापात्रा ने सोमवार को बताया था कि बंगाल की खाड़ी में बने ताकतवर चक्रवाती तूफान अम्फान (Cyclone Amphan) से पश्चिम बंगाल और ओडिशा के तटीय जिलों में व्यापक नुकसान हो सकता है। उन्होंने कहा था कि अम्फान ओडिशा में 1999 में तूफान के बाद दूसरा सुपर साइक्लोन (चक्रवाती तूफान) है। 1999 के सुपर साइक्लोन ने 9,000 से अधिक लोगों की जान ले ली थीं।

कैसे पड़ा अम्फान नाम ? (Cyclone Amphan)

अम्फान तूफान का नाम थाईलैंड से आया है। आपको बता दें इस तरह का सुपर साइक्लोन अपने पीछे बर्बादी छोड़ जाता है। यह तूफान साल 2014 में आए हुदहुद तूफान से काफी भयावह और विध्वंसक हो सकता है। 2014 में हुदहुद ने पश्चिम बंगाल और ओडिशा जैसे तटीय राज्यों के अलावा उत्तर प्रदेश समेत कई मैदानी राज्यों में भी भयंकर तबाही मचाई थी। वहीं 2019 में आए फोनी चक्रवाती तूफान के कारण ओडिशा में करोड़ों का नुकसान हुआ था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *