20 लाख करोड़ आर्थिक पैकेज चौथी किस्त, इन सेक्टरों में लाखों रोजगार पैदा करेगी सरकार !

आर्थिक पैकेज चौथी किस्त, Nirmala Sitharaman, Socialaha
नई दिल्ली: पीएम मोदी के आत्मनिर्भर भारत अभियान के लिए 20 लाख करोड़ रुपये के आर्थिक पैकेज की चौथी किस्त (आर्थिक पैकेज चौथी किस्त) की जानकारी वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शनिवार को दी। उन्होंने कहा कि कई सेक्टर की मजबूती के लिए नीतिगत बदलाव की जरूरत है। वित्त मंत्री ने 8 सेक्टर के लिए बड़े ऐलान किए। इन क्षेत्रों में माइनिंग, खनिज, विमानन और डिफेंस शामिल हैं।

रक्षा क्षेत्र की करेंगे ‘रक्षा’

रक्षा क्षेत्र में सुधार के लिए सरकार द्वारा बड़ा कदम उठाया गया है। वित्त मंत्री ने कहा कि रक्षा उत्पादन में आत्मनिर्भर बनने के लिए मेक इन इंडिया पर जोर दिया जाएगा। सेना को आधुनिक हथियारों की जरूरत है। रक्षा क्षेत्र में एफडीआई की सीमा 49 फीसदी से बढ़ाकर 75 फीसदी की जाएगी। ऑर्डिनेंस फैक्ट्री बोर्ड का निगमीकरण किया जाएगा। इसके साथ ही कुछ हथियारों के आयात पर बैन लगाया जाएगा और उनकी लिस्ट बनेगी। साथ ही साल दर साल हथियारों का उत्पादन बढ़ाया जाएगा  और जो पुर्जे आयात करने पड़ते हैं उनका भी उत्पादन देश में ही किया जाएगा। रक्षा क्षेत्र में स्वदेशी हथियारों के लिए अलग से बजट का प्रावधान होगा ।

पीपीपी मॉडल से एयरपोर्ट का विकास

वर्ल्ड क्लास लेवल के एयरपोर्ट का विकास पीपीपी (पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप) मॉडल से होगा। एयरस्पेस बढ़ाया जाएगा. अभी 60% एयरस्पेस खुला है। पीपीपी मॉडल से 6 एयरपोर्ट विकसित किए जाएंगे। एयरस्पेस बढ़ाने से आमदनी बढ़ेगी. एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया को 2300 करोड़ रुपया दिया जाएगा  ।

कोयले के लिए होगी कमर्शियल माइनिंग

वित्तमंत्री ने अहम ऐलान करते हुए कहा कि कोयला क्षेत्र में कॉमर्शियल माइनिंग शुरू की जाएगी और सरकार का एकाधिकार खत्म होगा। कोयला क्षेत्र के लिए  50 हजार करोड़ रुपये दिए जाएंगे। सरकार खुली नीलामी कराएगा। कोयला क्षेत्र के कारोबारियों के लिए नियमों में ढील दी जाएगी। कोयला क्षेत्र में 500 नए ब्लॉक की नीलामी की योजना है।

खनिज सेक्टर में विकास की नीति

खनिज सेक्टर में विकास की नीति अपनाई जाएगी। माइनिंग और मिनरल सेक्टर में संरचनात्मक सुधार किया जाएगा। बॉक्साइट और कोयला के क्षेत्र में संयुक्त नीलामी का प्रावधान किया जाएगा।

कई सेक्टरों में होंगे नीतिगत बदलाव

वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि हमने सुधारों को लेकर फैसला देशहित में लिया। कई सेक्टरों में मजबूती के लिए नीतिगत बदलाव की जरूरत है। आज ग्रोथ, निवेश बढ़ाने वाले आर्थिक सुधारों की घोषणा की जाएगी। आत्मनिर्भर भारत कई सेक्टर में नियमों के सरलीकरण और सुधार की आवश्यकता है।
गौरतलब है आर्थिक पैकेज की चौथी किस्त से पहले निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार को खेती और इससे जुड़ी गतिविधियों को लेकर 11 अहम कदमों के ऐलान किए थे। वहीं गुरुवार और बुधवार को एमएसएमई सेक्टर, टैक्सपेयर्स, सैलरीड क्लास, फेरीवाले और प्रवासी मजदूरों के लिए अहम घोषणाएं कर चुकी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *