दूसरे टी-20 में आठ विकेट से जीता वेस्टइंडीज, सिमंस बने ‘मैन ऑफ द मैच’

टी20 इंटरनैशनल के दूसरे मैच

नई दिल्ली – वेस्ट इंडीज ने तिरुवनंतपुरम में खेले गए तीन मैचों की सीरीज के दूसरे टी20 इंटरनैशनल के दूसरे मैच में भारत को 8 विकेट से हरा दिया। भारतीय टीम ने पहले बल्लेबाजी की जिसमे शिवम दुबे के 54 रनों की बदौलत 7 विकेट पर 170 रन बनाए। इसके जवाब में वेस्ट इंडीज लिंडल सिमंस के 63 रनों की मदद से 9 गेंद बाकी रहते 2 विकेट पर 173 रन बनाकर मैच जीत लिया। विंडीज की तरफ से इविन लुईस ने 40 रन बनाए।

इसके अलावा शिमरॉन हेटमायर ने 23 और निकोलस पूरन ने 18 गेंदों पर 38 रन बनाए। उन्होंने चार चौके और दो छक्के लगाए। ये तीन मैचों की सीरीज 1-1 से बराबर हो गई है। भारत ने शुक्रवार को हैदराबाद में खेला गया मुकाबला जीता था। बता दें कि सीरीज का तीसरा और आखिरी मैच 11 दिसंबर को खेला जाएग

बता दें कि भारत का प्रदर्शन कुछ ज्यादा अच्छा नहीं देखा गया। पिछले मैच में हाफ सेंचुरी लगाने वाले केएल राहुल सिर्फ 11 रन बनाकर आउट हुए और रोहित शर्मा एक बार फिर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 400 छक्के पूरे करने से महरूम रह गए। रोहित 15 रन बनाकर वापस पविलियन लौटे।

यह भी पढ़ें- INDvsWI: दूसरे टी-20 मुकाबले में पूरे 20 ओवरों का खेल होने पर संशय !

वहीं इस मैच में भारतीय कप्तान विराट कोहली ने युवा बल्लेबाज शिवम दुबे को तीसरे नंबर पर बल्लेबाज करने भेजा। युवा बल्लेबाज ने इस मौके का पूरा फायदा उठाया। उन्होंने पहले रोहित के साथ 32 और फिर कप्तान विराट कोहली के साथ 41 रन जोड़े। उन्होंने अपने टी20 अंतरराष्ट्रीय करियर की पहली हाफ सेंचुरी भी लगाई। उन्होंने 30 गेंदों पर चार छक्कों और तीन चौकों की मदद से 54 रनों की पारी खेली।

विकेट पर गेंद रुककर आ रहा था और ऐसे में यहां बड़े शॉट खेलना उतना आसान नहीं था जितना कि हैदराबाद की विकेट पर था। दुबे, कोहली और अय्यर इसी का शिकार बने। तीनों ही बल्लेबाज अपने शॉट को सही तरह से टाइम नहीं कर पाए और कैच आउट हुए। ऋषभ पंत ने अच्छी पारी खेली। विकेटों के गिरने के बीच उन्होंने सही शॉट चयन किया और नाबाद 33 रन बनाए।

लेग स्पिनर हेडन वॉल्श ने विकेट का भरपूर फायदा उठाया। उन्होंने रफ्तार और स्पिन का अच्छा इस्तेमाल किया और भारतीय बल्लेबाजों को बांध कर रखा। उन्होंने 28 रन देकर दो विकेट लिए। 171 का लक्ष्य इस विकेट पर थोड़ा जटिल था लेकिन विंडीज टीम ने मजबूत शुरुआत की। लिंडल सिमंस और इविन लुईस ने पहले विकेट के लिए 9.5 ओवर में 73 रन जोड़े। लुईस वॉशिंगटन सुंदर की गेंद पर 40 रन बनाकर आउट हुए।
यह भी पढ़ें – INDvsWI: हैदराबाद में ‘विराट ब्रिगेड’ की शानदार जीत में क्या कुछ रहा खास

पारी के पांचवें ओवर में भुवनेश्वर कुमार के ओवर में दो कैच छूटे। ओवर की दूसरी गेंद पर वॉशिंगटन सुंदर ने सिमंस का एक आसान सा कैच छोड़ दिया। इसके बाद दो गेंद बाद ही विकेट के पीछे ऋषभ पंत ने लुईस का कैच टपका दिया। हालांकि यह कैच थोड़ा मुश्किल था।

शिमरॉन हेटमायर और सिमंस की जोड़ी बहुत खतरनाक हो रही थी। बाएं हाथ के बल्लेबाज हेटमायर ने रविंद्र जडेजा की गेंद पर बाउंड्री पर दौड़ लगाते हुए शानदार कैच लपका। हेटमायर ने 14 गेंदों पर तीन छक्कों की मदद से 23 रन बनाए।

वहीं बता दें कि विराट ने हेटमेयर को पविलियन भेजने में अहम भूमिका निभाई और रविंद्र जडेजा की गेंद पर लॉन्ग ऑन पर दौड़ते हुए कैच लपका। वह कैच लपकने के बाद मैदान पर गिर भी गए लेकिन बॉल को नहीं छोड़ा।

मैच के बाद विराट से इस कैच के बारे में पूछा गया तो विराट ने कहा, ‘ये कुछ इस तरह के कैच होते हैं जब गेंद हाथ में फंस जाती है। मैं गेंद को देख रहा था, फिर दोनों हाथों को आगे बढ़ाया और सौभाग्य रहा कि गेंद हाथों में आ गई।’

उन्होंने कहा, ‘पिछले मैच में मैंने एक हाथ से कैच लेने की कोशिश की थी, लेकिन लपक नहीं सका। आप कोशिश करते हैं लेकिन कई बार सफल होते हैं और कई बार कैच लेने में कामयाब नहीं हो पाते।’ विराट इस मैच में 17 गेंदों पर 2 चौकों की मदद से 19 रन बना सके। भारत और वेस्ट इंडीज के बीच सीरीज का तीसरा और निर्णायक टी20 मैच 11 दिसंबर को खेला जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *