ईरान ने किया क़ुबूल- विमान को गलती से बनाया निशाना

विमान Iran targeted the plane by mistake_socialaha.com

नई दिल्ली- तेहरान से उड़ान भरने वाले यूक्रेन के यात्री विमान के क्रैश होने के मामले में ईरान ने अपनी गलती मान ली है। इसे पहले कई बार इस घटना से दूर भागने वाले ईरान ने पहली बार अपनी गलती स्वीकार की है। ईरान ने कहा की ईरानी मिसाइलों ने ही विमान को गलती से निशाना बनाया था। ईरान के विदेश मंत्री ने इसकी पुष्टि करते हुए खेद जताया है।

इस विमान हादसे में 176 लोगों की मौत हो गई जिनमें ईरान के 82 और कनाडा के 63 नागरिक थे। अमेरिका, कनाडा, ऑस्ट्रेलिया और ब्रिटेन जैसे देश पहले से ही गलती से विमान को निशाना बनाए जाने की बात कर रहे थे। 8 जनवरी को यह विमान यूक्रेन की राजधानी कीव जा रहा था। इसमें ईरान और कनाडा के अलावा यूक्रेन के 11, स्वीडन के 10, अफगानिस्तान के चार जबकि जर्मनी और ब्रिटेन के तीन-तीन नागरिक सवार थे।

ईरानी विदेश मंत्री जवाद जरीफ ने भी ट्वीट किया, ‘दुखी करनेवाला दिन। आर्मी की शुरुआती जांच में सामने आया है कि अमेरिका के हमले के वक्त मानवीय भूल की वजह से हादसा हुआ।’ यह पहला मौका नहीं है, जब किसी देश की सेना ने चूक करते हुए किसी यात्री विमान को गिराया हो।

यह भी पढ़ें- ईरान और अमेरिका के बीच तनाव जारी, ट्रंप ने ईरान को दी खुली चुनौती

बता दें कि ईरान की नागरिक उड्डयन विभाग के साथ बैठक के बाद पहले से ही इसकी उम्मीद जताई जा रही थी। अब ईरान प्रशासन ने बयान जारी कर कहा कि यूक्रेन का विमान मानवीय भूल के कारण निशाने पर आ गया। इस हादसे में सवार सभी लोगों की मौत हो गई। यूक्रेन इंटरनैशनल के विमान बोइंग 737-800 टेक ऑफ के कुछ मिनट बाद भी क्रैश हो गया। शुरुआत में विमान हादसे का कारण ईरान ने तकनीकी खामी बताया था।

ईरान ने ऑस्ट्रेलिया और कनाडा के दावे के बीच शुक्रवार को कहा था कि यूक्रेन का प्लेन उसकी मिसाइल का शिकार नहीं हुआ है। बता दें कि कमांडर कासिम सुलेमानी के एयर स्ट्राइक में मारे जाने के बाद बदले की कार्रवाई करते हुए ईरान ने इराक में मौजूद अमेरिकी एयरबेस को निशाना बनाने के लिए मिसाइलें दागी थीं। उसी दौरान यूक्रेन का एक विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया। अब ईरान ने स्वीकार किया है कि यह विमान मानवीय चूक के कारण ईरान की मिसाइल से ही गिरा।

यह भी पढ़ें- इराक में फिर हमला, ट्रंप बोले- अब ईरान के खिलाफ एकजुट होने की जरूरत

ब्रिटेन और कनाडा के प्रधानमंत्री ने हादसे के बाद बयान जारी कर कहा था कि खुफिया सूचनाएं बताती हैं कि यूक्रेन का प्लेन ईरान की मिसाइल से गिरा है। दबाव बढ़ने के बाद ईरान ने बोइंग और विमान में सवार देशों के नागरिकों की सरकारों को जांच के लिए आमंत्रित भी किया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *