मायावती का योगी-प्रियंका पर वार, कहा ‘मजदूरों के नाम पर कर रहे घिनौनी राजनीति’

Mayawati, मायावती, UP Bus Politics, Socialaha

लखनऊ: उत्तरप्रदेश में कांग्रेस और बीजेपी के बीच शुरू हुआ बस का विवाद अब लगातार बढ़ता ही जा रहा है। जहां पहले कांग्रेस ने बसें देनें की बात कही फिर मंगलवार को अजय कुमार लल्लू की गिरफ्तारी और बुधवार को नोएडा के कांग्रेसी नेता पंकज के खिलाफ केस दर्ज होने से मामला बढ़ गया है। इस पूरे मामले पर बहुजन समाज पार्टी की सुप्रीमो मायावती ने चुप्पी तोड़ी और दोनों पार्टियों को आड़े हाथों लिया।

बसपा सुप्रीमो ने कहा, पिछले कई दिनों से प्रवासी श्रमिकों को घर भेजने के नाम पर खासकर बीजेपी व कांग्रेस द्वारा जिस प्रकार से घिनौनी राजनीति की जा रही है यह अति-दुर्भाग्यपूर्ण। कहीं ऐसा तो नहीं ये पार्टियाँ आपसी मिलीभगत से एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप करके इनकी त्रास्दी पर से ध्यान बाँट रही हैं?

मायावती का जोरदार हमला

यदि ऐसा नहीं है तो बी.एस.पी. का कहना है कि कांग्रेस को श्रमिक प्रवासियों को बसों से ही घर भेजने में मदद करने पर अड़ने की बजाए, इनका टिकट लेकर ट्रेनों से ही इन्हें इनके घर भेजने में इनकी मदद करनी चाहिये तो यह ज्यादा उचित व सही होगा।

जबकि इन्हीं सब बातों को खास ध्यान में रखकर ही बीएसपी के लोगों ने अपने सामर्थ्य के हिसाब से प्रचार व प्रसार के चक्कर में ना पड़कर बल्कि पूरे देश में इनकी हर स्तर पर काफी मदद की है अर्थात् बीजेपी व कांग्रेस पार्टी की तरह इनकी मदद की आड़ में कोई घिनौनी राजनीति नहीं की है।

साथ ही, बीएसपी की कांग्रेस पार्टी को यह भी सलाह है कि यदि कांग्रेस को श्रमिक प्रवासियों को बसों से ही उनके घर वापसी में मदद करनी है अर्थात ट्रेनां से नहीं करनी है तो फिर इनको अपनी ये सभी बसें कांग्रेस-शासित राज्यों में श्रमिकों की मदद में लगा देनी चाहिये तो यह बेहतर होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *