आमरण अनशन- 13वें दिन स्वाति मालीवाल हुईं बेहोश, जबरन ले जाया गया अस्पताल

स्वाति मालीवाल, swati maliwal- socialaha

नई दिल्ली: दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल के आमरण अनशन के 13वें दिन रविवार सुबह अचानक उनकी तबीयत बिगड़ गई। स्वाति को अचानक बेहोश होने पर तुरंत एलएनजेपी अस्पताल ले जाया गया और वहां तुरंत उन्हें ग्लूकोज चढ़ाया गया। आपको बता दें हैदराबाद की डॉ. दिशा (बदला हुआ नाम) के साथ हुए भयानक कांड के बाद  3 दिसंबर से ही स्वाती मालीवाल राजघाट पर अनशन पर बैठी थीं और उन्होंने रेपिस्टों को तत्काल फांसी देने के लिए सरकार के कानून की मांग की थी।

सूत्रों के मुताबिक मालीवाल सुबह करीब सात बजे बेहोश हुयीं। अनशन के 12वें दिन शनिवार को मालीवाल के स्वास्थ्य में निरंतर आती गिरावट को देख डाक्टरों ने उन्हें तुरंत अनशन समाप्त करने की सलाह दी थी। डाक्टरों के मुताबिक मालीवाल का यूरिक एसिड खतरनाक स्तर में पहुंच गया है। मालीवाल का वजन इस दौरान सात से आठ किलो वजन कम हो गया है। उनका रक्तचाप और शुगर का स्तर भी सामान्य से काफी कम हो गया है। उनकी जांच करने के बाद डाक्टरों ने उन्हें अनशन तुरंत खत्म करने की सलाह दी।

और बिगड़ सकती है हालत !

मालीवाल की शनिवार शाम को हालत बिगड़ गई थी तो डॉक्टरों और पुलिस ने उन्हें अस्पताल में भर्ती करने की सलाह दी थी लेकिन उन्होंने इससे इनकार किया था। मेडिकल बुलेटिन के मुताबिक, उनके खून में यूरिक एसिड खतरनाक स्तर पर पहुंच गया है। ऐसे हालात में लिवर और किडनी को नुकसान पहुंच सकता है।

यह भी पढ़ें- प्रशांत किशोर ने मिलाया आम आदमी पार्टी से हाथ, सिसोदिया बोले- अबकी बार 67 पार

पीएम मोदी को लिखा पत्र

आपको बता दें दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष ने कल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी पत्र लिखा था जिसमें में उन्होंने पीएम मोदी से पूरे देश में ‘दिशा विधेयक’ तत्काल लागू करने की मांग की है। गौरतलब है कि दिशा विधेयक में महिलाओं के खिलाफ अत्याचार के मामलों को 21 दिन के भीतर निपटारा करने और मौत की सजा का प्रावधान किया गया है। ये कानून अभी तक सिर्फ आंध्र प्रदेश के सीएम जगनमोहन रेड्डी द्वारा हस्ताक्षर होने के बाद वहां ही लागू हुआ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *