मिल गया चंद्रयान-2 के विक्रम लैंडर का मलबा, नासा ने दिखाई तस्‍वीर

नई दिल्ली- अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने चंद्रयान-2 के विक्रम लैंडर के बारे में ट्वीट कर जानकारी दी है कि उसके लूनर रेकॉन्सेन्स ऑर्बिटर (LRO) ने चंद्रमा की सतह पर चंद्रयान-2 के विक्रम लैंडर को ढूंढ लिया है। चांद की सतह पर इस साल सितंबर में दुर्घटनाग्रस्त हुए चंद्रयान 2 के विक्रम लैंडर के मलबे को अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ढूंढ निकाला। मंगलवार सुबह नासा ने रेकॉन्सेन्स ऑर्बिटर से ली गई एक तस्वीर जारी की।

vikram lander has been found by nasa
                                                      Vikram Lander

तस्वीर में विक्रम लैंडर से प्रभावित जगह नजर आ रही है। नासा ने बताया कि चंद्रमा की सतह पर विक्रम लैंडर मिल गया है। तस्वीर में नीले और हरे डॉट्स के माध्य से विक्रम लैंडर के मलबे वाला क्षेत्र दिखाया गया है।
यह भी पढ़ें- सरकार ने संसद में बताया कैसे टूटा था चंद्रयान-2 और विक्रम का कनेक्शन

बता दें कि 26 सितंबर को क्रैश साइट की तस्वीर जारी की थी। लोगों को लोगों को विक्रम लैंडर के संकेतों की खोज करने के लिए बुलाया था। इसके बाद शनमुगा सुब्रमण्यन नाम के एक व्यक्ति ने मलबे की एक सकारात्मक पहचान के साथ एलआरओ परियोजना से संपर्क किया।

नासा के दावे के मुताबिक चंद्रयान-2 के विक्रम लैंडर का मलबा उसके क्रैश साइट से 750 मीटर दूर जाकर मिला।  मलबे के तीन सबसे बड़े टुकड़े 2×2 पिक्सल के हैं। NASA ने सोमवार की रात करीब 1:30 बजे विक्रम लैंडर के इम्पैक्ट साइट की तस्वीर जारी की और बताया कि उसके ऑर्बिटर को विक्रम लैंडर के तीन टुकड़े दिखा है।
यह भी पढ़ें-झारखंड में राहुल गांधी बोले – देश में अंबानी-अडाणी की सरकार

वहीं इससे पहले अक्टूबबर में नासा ने बयान जारी किया था कि उन्हें ऑर्बिटर से मिले ताजा फोटो में चंद्रयान -2 के लैंडर का कोई पता नहीं चला है। नासा ने कहा कि हो सकता है जिस समय हमारे ऑर्बिटर ने फोटो ली, उस समय लैंडर किसी छाया में छिप गया हो। नासा के एक प्रॉजेक्टह साइंटिस्ट ने बताया था कि हमारे ऑर्बिटर ने 14 अक्टूबर को चंद्रयान 2 के विक्रम लैंडिंग साइट की फोटो ली थी, लेकिन हमें वहां से कोई ऐसी फोटो नहीं मिली, जिसमें विक्रम लैंडर को देखा जा सके। गौरतलब है कि चांद पर सॉफ्ट लैंडिंग से महज एक मिनट पहले इसरो का चंद्रयान-2 से संपर्क टूट गया था।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *